strike

सरपंच द्वारा का किये जा रहें करोड़ों रुपए के गोलमाल को लेकर ग्रामीणों ने कराई शिकायत दर्ज

45
Shubham Tiwadi

शुभम तिवाड़ी

करौली। पंचायत समिति के एक ग्राम पंचायत फुलवाड़ा में ग्रामीणों ने सरपंच पर करोड़ों रुपए के विकास कार्य का गोलमाल करने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों ने कई दफा पंचायत समिति में शिकायत दर्ज करायी। लेकिन शिकायत के बाद भी सरपंच पर कोई कार्रवाई नहीं हुई । ग्रामीणों द्वारा मुख्यमंत्री व पंचायत राज मंत्री को चिट्ठी लिखकर विकास कार्यो की जांच की मांग की।

वहीं ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि फुलवाड़ा सरपंच ममता मीणा ने जो निर्माण कार्य कराए हैं वे पूरे नहीं किए। निर्माण कार्य मोहन के घर से बंजर तक इंटरलॉक सड़क का निर्माण किया। इसमें घटिया निर्माण सामग्री का इस्तेमाल किया। जिससे सड़क पूरी तरह खराब हो चुकी है।  सरपंच द्वारा कागज़ों में ही सीसी सड़क से गौशाला तक पटरी निर्माण दिखा कर पैसे उठा लिए।

चमरपुरा गांव  में सिंगल फेस बोर नही होने के बाबजूद भी बोर का पेमेंट ले लिया। चमरपुरा गांव में श्मशान घाट का निर्माण हुआ नहीं न ही कोई टंकी का निर्माण हुआ लेकिन सरपंच द्वारा उनका भुगतान कर लिया गया ।

साथ ही ग्रामीणों ने बताया कि गांव में शमशान घाट, पानी की बोरिंग, रोड को कागज़ों में दिखाकर करोड़ों रूपये का गमन किया है। जबकि जमीनी हकीकत में ऐसा कुछ नही है। गांव में साफ सफाई कागज़ों में चल रही है। लेकिन कोई भी काम पूरा नही हुआ।

इतना ही नहीं, ग्रामीणों ने सरपंच पर आरोप लगाया है, कि जो काम किए भी गए है। उनमें पूरी तरह घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया गया है। ग्रामीणों के मुताबिक सरपंच ने गांव के विकास कार्यों के लिए करोड़ों रुपये खर्च हुए दिखाए है। लेकिन मौके पर जिस जिस कामों के एवज में रकम खर्च हुए दिखाए है।

दरअसल, वो काम हुए ही नही है। उनके बिल भी पास हो चुके है। इससे साफ साबित होता है कि सरपंच ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए पंचायत व सरकार को करोड़ों रुपए के धनकोश को चुना लगाया है।