कोलारस उपचुनाव: सिंधिया शिवराज सिंह में जुबानी जंग शुरू

MP Bypoll Shivraj and Sindhiya
Janmanchnews.com
Share this news...
Sarvesh Tyagi
सर्वेश त्यागी

शिवपुरी। मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया और शिवराज सिंह चौहान के बीच जंग का इंतजार तो काफी सारे लोग कर रहे हैं परंतु इसकी एक नजीर शिवपुरी जिले की कोलारस विधानसभा में देखने को मिल गई। 06 जनवरी को दोनों नेता कोलारस विधानसभा में थे। पहले सिंधिया की सभा हुई। ​उन्होंने राई में आयोजित सभा से शिवराज पर हमला किया फिर 4 बजे शिवराज सिंह ने यहीं पर हितग्राही सम्मेलन में सिंधिया को जवाब भी दिए।

सिंधिया ने कहा: ये लड़ाई मेरे और शिवराज सिंह के बीच है। यहां कौरवों की सेना घूम रही है, बहुत जल्द हमारे पांडव आएंगे और इन्हें यहां से भगा देंगे। (यहां कौरवों से तात्पर्य भाजपा के मंत्रियों से है।)

शिवराज ने कहा: मैं किसी से लड़ने नहीं आया और न ही मेरा किसी से मुकाबला है। मैं तो महलों में नहीं जन्मा, मैं तो खपरैल में पैदा हुआ। इसलिए अपनी गरीब जनता से मिलने आता हूं। जनता के लिए चलाई जा रही सरकारी योजनाओं की जानकारी देने आता हूं। मैं डेढ़ मुट्ठी हड्डी का हूं।

सिंधिया: जब किसान आत्महत्या कर रहा था, मंडी में व्यापारी किसानों को लूट रहे थे, आदिवासी प्यास से तड़प रहे थे, तब किसान का बेटा कहां था।

शिवराज: हमने किसानों के लिए भावांतर योजना चलाकर उन्हें बड़ी राहत दी है। हमने मंत्री नरोत्तम मिश्रा से कह दिया है कि वह इस क्षेत्र के विकास के लिए खूब योजनाएं बनाकर भूमि पूजन करें। हम पैसे की कमी नहीं आने देंगे।

सिंधिया: आदिवासी हमारा बिकाऊ नहीं है, ये उसे 1 हजार रुपए में खरीद रहे हैं। ये बात सिंधिया ने जाटवों के सम्मेलन में शुक्रवार देर रात को कही, इसके बाद शनिवार सुबह राई में इस बात को सहरियाओं के सम्मेलन में फिर से दोहराया।

शिवराज: हम सभी वर्गों के लिए काम कर रहे हैं। जब हमने देखा कि हमारा सहरिया समाज पीछे छूट गया है और यहां माताएं-बहनें परेशान हैं, तो हमारी सरकार इनके उत्थान के लिए आगे आई है। कुछ लोगों को ये भी अखर रहा है।

सिंधिया: 14 साल में शिवराज सिंह कभी राई नहीं आए। अब वे 15 मंत्रियों को लेकर घूम रहे हैं। यह उनका अहंकार है। सिंधिया ने कहा कि मैं तो स्थाई रुप से आपके बीच आता हूं और ये सब अतिथि के रूप में आते हैं। इनका स्वागत करना और जब ये जाएं तो वोट डालते समय इनको सबक सिखाना।

अभी तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की तरफ से इसका जवाब आने का इंतजार है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।