मारा पीटा

एक हफ्ते से लापता युवक घायलावस्था में सड़क किनारे बेसुध मिला

36

जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में दाखिल करने से डाक्टरों ने किया इंकार, कहा– पहले पुलिस में दर्ज कराओ मामला…

 

–आशीष चौहान

उन्नाव: पुरवा कोतवाली क्षेत्र के बनीगांव के युवक को भूमि विवाद में एक हफ्ते तक बंधक बनाकर मारा पीटा गया फिर शुक्रवार रात उसे घायलावस्था में बिछिया के पास फेंककर हमलावर भाग निकले। युवक को सीएचसी में भर्ती कराया गया है।

डॉक्टर ने हालत नाजुक देख जिला अस्पताल भेज दिया। परिजन उसे जिला अस्पताल लेकर पहुंचे तो इमरजेंसी में तैनात डॉक्टर ने पुलिस का मामला बताकर काफी देर तक भर्ती नहीं किया। घायल एक घंटे तक इमरजेंसी के गेट पर तड़पता रहा। लोगों के विरोध करने पर घायल को भर्ती किया गया।

बनीगांव की सविता के मुताबिक शुक्रवार को बिछिया सीएचसी के डॉक्टर ने फोन कर बताया कि उसका पति मनोज अस्पताल में भर्ती है। उसे बुरी तरह मारा पीटा गया है। जानकारी पर सविता सीएचसी पहुंची। डॉक्टर ने हालत नाजुक होने पर मनोज को जिला अस्पताल भेज दिया। यहां इमरजेंसी में तैनात डॉक्टर ब्रजकुमार ने पहले पुलिस में केस दर्ज कराने की बात कहकर घायल को भर्ती नहीं किया। इससे मनोज वहीं गेट पर तड़पता रहा। इमरजेंसी में मौजूद अन्य तीमारदारों के दबाव बनाने पर डॉक्टर ने उसे भर्ती कर इलाज शुरू किया। सविता का कहना कि पुरवा पुलिस केस नहीं दर्ज कर रही है। उसने बताया कि पति को गांव के लोगों ने बंधक बनाकर मारपीट कर घायल कर दिया और सड़क किनारे फेंक दिया था।

एसओ पुरवा अरुण सिंह ने बताया कि पिता की तहरीर पर बेटे मनोज के खिलाफ मारपीट का केस दर्ज है। मामले में पेशबंदी की जा रही है। मनोज आठ जुलाई से लापता था।