इमरान खान

मोदी पाकिस्तान में बनें चुनावी मुद्दा

62

इमरान खान नें कहा- नवाज ने कोशिशें कीं, लेकिन मोदी का रुख पाक विरोधी, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के प्रमुख हैं इमरान खान, पाकिस्तान में 25 जुलाई काे वोटिंग…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

 कराची। पूर्व क्रिकेटर और अब पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी (पीटीआई) के प्रमुख इमरान खान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी चुनावी मुद्दा बना रहे हैं। इसके लिए वे अपने धुर विरोधी नवाज शरीफ का भी पक्ष लेते दिख रहे हैं। इमरान ने गुरुवार को एक इंटरव्यू में कहा, ‘‘अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने भारत-पाक के रिश्तों को बेहतर करने की कोशिश की थी, लेकिन मोदी सरकार के पाकिस्तान विरोधी आक्रामक रुख ने दोनों देशों के बीच गतिरोध पैदा किया।

पाकिस्तान की जटिल सियासी हकीकतों को समझने वाला शख्स ही पाकिस्तान का वजीर-ए-आजम बन पाएगा।” पाकिस्तान में नेशनल असेंबली की 342 में से 272 सीटों पर 25 जुलाई को चुनाव हैं।65 साल के इमरान ने पाकिस्तान के अखबार ‘डॉन’ को दिए इंटरव्यू में कहा,‘‘ शरीफ ने हर मुमकिन कोशिश की। यहां तक कि नरेंद्र मोदी को अपने घर भी बुलाया।

पाकिस्तान को अलग-थलग रखना ही मोदी सरकार की नीति है। उनका बहुत ही आक्रामक पाकिस्तान विरोधी रुख है। ऐसा रवैया हो तो कोई क्या कर सकता है?” मोदी दिसंबर 2015 में पाकिस्तान गए थे। जनवरी 2016 में पठानकोट अातंकी हमले और उसी साल सितंबर में उड़ी सैन्य शिविर पर हमले ने दोनों देशों के बीच रिश्तों में फिर तल्खी ला दी।

इमरान ने पाकिस्तान की विदेश नीति में सेना के असर को माना : इमरान ने कहा, ‘‘कई अमेरिकी-अफगान नीतियां पेंटागन से प्रभावित हुई हैं। पाकिस्तान की अंदरूनी सियासत में भी सेना का असर रहा है। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि हमारे पास बदतर सरकारें थी। जहां खाली जगह होगी, उसे कुछ ना कुछ तो भरेगा ही।’’ इमरान ने यह भी कहा कि पाकिस्तान कोई यूरोप नहीं है। यहां आपको पैसा चाहिए और हजारों प्रशिक्षित पोलिंग एजेंट चाहिए जो लोगों को मतदान केंद्र तक ले जा सकें।

इस बार इमरान पेश कर रहे चुनौती : इमरान खान खैबर पख्तूनख्वा प्रांत से आते हैं। वे पीएमएल-एन और पीपीपी को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। उनकी पार्टी ने 2013 में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में पहली बार सरकार बनाई थी। नेशनल असेंबली में 35 सीटें जीती थीं। इमरान खुद 5 सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। इनमें खैबर पख्तूनख्वा की एनए-35 बानू, इस्लामाबाद की एनए-53, पंजाब की एनए-95 मियांवाली, एनए-131 लाहौर और सिंध की एनए-243 कराची सीट शामिल है।