पीएम काशी में: घाटों को देख फ्रेंच राष्ट्रपति हुये भाव विभोर, जानिए और क्या किया मोदी-मैक्रों नें बनारस में

काशी दौरा
PM Modi along with French President Emmanuel Macron visited Varanasi...
Share this news...

मिर्जापुर में सोलर प्लांट का किया उद्धघाटन, मड़ुवाडीह-पटना जनशताब्दी को पीएम नें दिखाया हरी झंडी, डीएलडब्लु में काशीवासियों का किया आभार व्यक्त…

Tabish Ahmed
ताबिश अहमद

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति सोमवार को वाराणसी के दौरे पर पहुँचे। बनारस में पहले मोदी पहुंचे, उन्होंने एयरपोर्ट पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों का स्वागत किया। इसके बाद दोनों नेता हेलीकॉप्टर से मिर्जापुर में 650 करोड़ की लागत से बने सोलर प्लांट का उद्घाटन करने गये। तकरीबन 1:50 बजे मोदी मैक्रों को लेकर बनारस के अस्सी घाट पहुँचे। यहाँ मोदी-मैक्रों और योगी नें एक सजी धजी बड़ी नाव से अस्सी से दशाश्वमेध घाट तक सैर किया। अस्सी से दोनो नेता नदेसर स्थित होटल ताज पहुँचे और लंच किया।

दोनों नेताओं नें 800 करोड़ से ज्यादा की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। मोदी नें वाराणसी में 1000 की क्षमता वाले विधवा आश्रम का एलान भी किया है। जापान के पीएम शिंजो आबे के बाद मैक्रों वाराणसी आने वाले दूसरे राष्ट्राध्यक्ष हैं, जापान के पीएम शिंजो आबे ने यहां गंगा आरती भी की थी।

Watch Video: PM Modi and Emmanuel Marcon Kashi Visit

हर-हर महादेव और हर-हर मोदी के नारे के बीच भारत के प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद नरेन्‍द्र मोदी ने फ्रांसीसी राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रों को बनारस की खूबसूरती का दीदार कराया। अस्‍सी घाट से नौका पर सवार हुए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और फ्रांस के राष्‍ट्रपति इमैनुअल मैक्रों के स्‍वागत के लिए घाटों पर हजारों की संख्‍या में वाराणसी के लोग और सांस्‍कृतिक कलाकार दोनों नेताओं का इस्‍तेकबाल कर रहे थे।

वहीं दोनों नेताओं ने भी बनारसियों के पारंपरिक अभिवादन हर-हर महादेव का अपने ही अंदाज में दोनों हाथ ऊपर उठाकर जवाब दिया। धीरे-धीरे करके दोनों नेताओं का काफिला गंगा नदी में अस्‍सी घाट से दशाश्‍वमेध घाट तक पहुंचा।

वाराणसी आये फ़्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो ने पीएम मोदी संग गंगा में नौका विहार कर काशी की संस्कृति, सभ्यता संग घाटों के एतिहासिता को करीब से निहारा। इस दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति खुद को रोक नहीं सके और बजड़े पर खड़े हो गये है।  उन्होंने घाट किनारे खड़े काशीवासियों का हाथ हिलाकर अभिनंदन भी किया।

फ्रांस
People of Varanasi waiting for the PM fleet with Indian and French Flags…

भारतीय समयानुसार 1 बजकर 50  मिनट पर दोनों देशो के नेता वाराणसी के अस्सी घाट पहुंचे जहां पहले उनकी भारतीय परंपरा के अनुसार उनकी मेजबानी की गयी फिर दोनों नेता विशेष नाव के जरिये गंगा में नौका विहार किया। अलग अलग घाटों पर दोनों  के नेता ने काशी की सभ्यता और संस्कृति को करीब से देखा और समझा।

मां गंगा की गोद में लगभग 22 मिनट तक नौका विहार कर अस्सी से दशाश्वमेघ घाट के बीच 36 घाटों पर अलग अलग नज़ारे को निहारा। इन घाटों को अलग-अलग थीम के अनुसार सजाया गया था।

दोनों नेताओ ने सबसे पहले अस्सी घाट पर विश्वप्रसिद्ध भारत मिलाप के अदभुत् झांकी के दर्शन किये फिर तुलसी घाट पर काशी के सोलवी शताब्दी की झांकी निहारी जैन घाट पर दो नदियों के अदभुत स्वरूप को देखा तो प्रभु घाट पर बुद्ध प्रार्थना, राजा चेतसिंह घाट पर बुद्ध द्वारा अपने पांच शिष्यों को ज्ञानोपदेश की झलकियां, शिवाला घाट पर पुराने समय के मुखौटो से सजे अखाड़ा श्री निरंजनी घाट पर भस्म का श्रृंगार किये हुए साधु जन धुनी रमाए दिखें।

नौका
PM Modi and Emmanuel Macron enjoying boat ride in Ganga…

नारद घाट पर विशाल खडाउ के दर्शन हुए तो अन्य घाटों पर बच्चो ने रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किये तो दशाश्वमेघ घाट पर अश्वमेध यज्ञ की प्रतीक झांकी का नजारा देख पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो और उनकी पत्नी गदगद हो उठे।

गंगा में नौका विहार के वक्त काशी के लोगो ने भी हर हर महादेव के नारे के साथ अपने इस ख़ास विदेशी मेहमान का स्वागत किया तो कही कहीं लोगो ने घाट किनारे ऐतिहासिक भवनों के छत से पुष्प वर्षा भी की।

डीएलडब्लु में प्रधानमंत्री ने मंडुआडीह-पटना जनशताब्‍दी एक्‍सप्रेस को लेकर कहा, ”आज मुझे काशी और पटना को जोड़ने के लिये एक नयी रेल सेवा शुरू करने का अवसर मिला। लंबे अर्स से बनारस और पटनावासियों की ये मांग थी। आज इसका शुभारंभ हुआ। सुबह 6 बजे गाड़ी मंडुआडही से चलेगी 10 बजे पटना पहुंच जायेगी। कम समय में पटना और काशी को जोडने के लिए आज से नई शुरूआत हुई है। मैं रेलमंत्री मनोज सिन्‍हा को इसके लिए विशेष तौर पर धन्‍यवाद दूंगा। आज काशी और पटनावासियों की बहुत पुरानी इच्‍छा पर अमल हुआ है।” ज्ञात हो कि पीएम मोदी नें आज 3:09 बजे मड़ुवाडीह स्टेशन से इस नई ट्रेन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

प्रधानमंत्री ने कहा, “बनारस के लोगों को मैं लाख-लाख धन्‍यवाद और उनका अभिनंदन करना चाहता हूं। बनारस ने आज कमाल कर दिया। जिस प्रकार से आज बनारस ने फ्रांस के राष्‍ट्रपति का सम्‍मान और स्‍वागत किया, फ्रांस के घर-घर में लोग जरूर पूछेंगे कि बनारस कहां है, जहां हमारे राष्‍ट्रपति का इतना स्‍वागत और सम्‍मान हो रहा है।”

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि अगर हमने आज गाड़ी तेज नहीं चलायी होती तो शायद हम इस वक्‍त भी बनारस की सड़कों पर कार में बैठकर लोगों का अभिवादन स्‍वीकार कर रहे होते। उन्‍होंने आगे कहा, ”गंगा के सभी घाट, रास्‍ते की एक एक इंच भूमि पर जुटकर बनारस के लोगों ने आशीर्वाद और प्‍यार दिया है। इस प्‍यार ने फ्रांस और भारत के रिश्‍ते को प्रेम से भिगा दिया है। इसके लिए बनारसवालों का जितना धन्‍यवाद करूं कम है।

चप्पे-चप्पे पर तैनात दिखे सुरक्षाकर्मी

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रो और पीएम मोदी के गंगा में नौका विहार के वक्त सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम दिखे। घाटों से लेकर गलियों और गंगा उसपार तक कड़ी सुरक्षा दिखी।  यही नहीं गंगा की लहरों में भी पुलिस संग एसपीजी, फ्रांस की सिक्योरिटी और सेना के जवान संग एनडीआरएफ ने मोर्चा संभाले रखा।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।