ताजमहल में बंदरों का जारी है आतंक, पर्यटकों पर किया हमला

monkey on tajmahal
Janmanchnews.com
Share this news...
परविन्दर राजपूत की रिपोर्ट-
आगरा। ताजमहल में बंदरों का आतंक लगातार बढ़ रहा है। बंदरों के झुंड ने विदेशी पर्यटकों का उस वक़्त हमला बोल दिया, जब वे फोटोग्राफरी कर रहे थे। इससे पर्यटन में हड़कम मच गया। ताजमहल के अन्दर एक माह में यह तीसरी चौथी घटना है, जहां चमेली फर्श पर शाही मस्जिद और मेहमान खाने की ओर बंदरों के झुंड ने पर्यटकों के दो दलों पर हमला किया।

गनीमत रही कि पर्यटक बाल-बाल बच गए। बंदर के घुड़की देने पर रूस का एक पर्यटक तो नीचे गिर गया।  21 अगस्त को इंदौर से आए पर्यटक समूह में शामिल बच्चों पर बंदरों ने हमला कर दिया। म्यूजियम की ओर पेड़ों के बीच से अचानक किए गए हमले से बच्चे घबरा गए और रोने-चिल्लाने लगे। ग्रुप में शामिल कई पर्यटकों ने बंदरों को भगाया।

26 अगस्त को ताजमहल पर विजयवाड़ा से आए पर्यटकों के दल पर बंदरों ने हमला किया। इस बार भी बंदरों के निशाने पर बच्चे ही रहे। सेंट्रल टैंक से आगे शू रैक के पास बंदरों के अचानक हमले से पर्यटक घबरा गए, लेकिन अन्य पर्यटकों ने बंदरों को भगाया। 

27 अगस्त को ताजमहल देखने आई चीन की पर्यटक पर बंदर ने हमला कर दिया। वो अपने दल के सदस्यों के साथ पूर्वी गेट की ओर पैदल जा रही थी। यहां आसपास बंदरों के फोटो अपने कैमरे से खींच रही थी। इसी दौरान बंदर ने पीठ में दांत मार दिए।

वहीं दशहरा घाट मंदिर की ओर से हर दिन सुबह और शाम को खाने की तलाश में बंदरों का बड़ा झुंड ताजमहल में पहुंचता है और अब तक 10 से ज्यादा सैलानियों को काट चुका है। वहीं स्थानीय लोगों भी इन बंदरों से परेशान हैं।

बता दें, प्रदेश के पर्यटन महानिदेशक, प्रमुख सचिव, आगरा के डीएम और कमिश्नर को कई बार पत्र भेजकर ताज और किला पर बंदरों का आतंक खत्म करने को कह चुके हैं, लेकिन किसी विभाग ने मई से लेकर अब तक पांच महीनों में कोई कार्रवाई नहीं की।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।