डिग्निटी

मासूम को बॉलकनी से फेकने के बाद माँ ने लगायी ग्यारहवी मंजिल से छलांग

33

बड़े बेटे के सामने माँ नें उठाया अतिवादी कदम, कल्यानपुर में इंदिरानगर के डिग्निटी अपार्टमेंट की घटना…

Ajit Pratap Singh

अजित प्रताप सिंह

 

 

 

 

 

कानपुर: शहर में एक माँ द्वारा पांच साल के बेटे को 11वीं फ्लोर की बॉलकनी से नीचे फेककर खुद भी कूद कर मौत को गले लगानें की दिल दहला देने वाली घटना से शहर भौचक है। माँ और बेटे की घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गयी। फिलहाल घटना के पीछे के सही कारणों का पता लगाने के लिए पुलिस जांच पड़ताल कर रही है।

कल्यानपुर थाना क्षेत्र के इंदिरानगर इलाके में बना डिग्निटी अपार्टमेट से यह घटना जुड़ी है, जहां पर अपार्टमेंट की ग्यारहवी मंजिल पर सीए पवन अग्रवाल का फ्लैट है, पवन अग्रवाल का एक मकान पत्रकारपुरम में भी है। बताया जाता है कि दोपहर को पवन अग्रवाल अपनी पत्नी जया अग्रवाल व अपने पांच साल के उत्कर्ष और सात साल के बेटे पार्थ के साथ अपार्टमेंट पहुंची।

कुछ देर तक फ्लैट में समय गुजारने के बाद बेटे को लेकर बॉलकनी में आयी, और अचानक बेटे को ग्यारहवी मंजिल से नीचे फेंक दिया। अपने भाई को माँ के द्वारा नीचे फेंके जाने की घटना को अपनी आंखो से देखने के बाद पार्थ ने शोर मचाया।

बेटे का शोर सुनकर पवन अग्रवाल अपार्टमेंट के नीचे की ओर भागे ही थे कि अचानक जया ने भी छलांग लगा दी। ये नजारा देखकर वहा पर मौजूद लोगो के पैरो तलें जमीन खिसक गयी। पवन अग्रवाल और उनका बड़ा बेटा बेहद सदमे की हालत में थे, सो हमनें उनसे सवाल पूछना उचित नही समझा।

घटना की जानकारी जिस किसी को हुई उनकी आंखे खुली की खुली रह गयी। सब के मुँह पर एक ही सवाल कि आखिर किन हालात में माँ नें ऐसा कदम उठाया। सूचना पर पुलिस घटनास्थल पर लेकिन तब तक माँ और बेटे दोनों की सांसें थम चुकी थी।

पुलिस ने दोनो के शवो को हैलट हास्पिटल पहुंचाया, पूछताछ के दौरान ये बात सामने आयी कि जया मानसिक बीमारी से परेशान थी, जिसके चलते उसने ये कदम उठाया है। लेकिन क्या वाकई एक माँ के दिमाग का संतुलन इस कदर खराब था कि उसने अपने जिगर से टुकड़े को ग्यारहवी मंजिल से नीचे फेंक दिया और खुद भी अपनी जीवन लीला खत्म कर ली, या फिर इस हाई प्रोफाइल फैमिली में कुछ और ही चल रहा था फिलहाल पुलिस जांच कर रही है।