RTI

नीतीश राज में सूचना के अधिकार के नियम का खुलेआम उड़ाया जा रहा माखौल

1

अधिनियम 2005 का नियम का अनदेखा कर आवेदक के साथ करते है धोखाधड़ी अनुमण्डल पदाधिकारी…

Birju Thakur

बिरजू ठाकुर

मोतीहारी (मधुबन): पकड़ीदयाल अनुमण्डल के अनुमण्डल पदाधिकारी से जनवितरण प्रणाली में व्याप्त भ्रष्टाचार सभी सम्बंधित सुचना मांगने पर आवेदक को परेशान किया जा रहा है जो सुचना के अधिकार अधिनियम 2005 का सरासर मखौल उड़ाया जा रहा है।

सनद रहे की मधुबन प्रखंड के तालिमपुर पंचायत के जनवितरण प्रणाली दुकानदार पर उपभोक्ता द्वारा शिकायत किया गया था। जिसमें मधुबन प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी संतोष कुमार के द्वारा जाँच किया गया था। उस शिकायत के विरूद्ध जाँच कर क्या करवाई की गयीं।

इस कारवाई का जानकारी मांगा गया था। लेकिन लोक सूचना पदाधिकारी का अधिकार अधिनियम-2005 के अनुच्छेद 8 (i in) का बहाना बना कर परेशान करने के नियत से फिर से विधिवत आवेदन देने का सलाह दिया जा रहा है। जबकि ये विभागीय करवाई है न की न्यायालय का मुकदमा है।

अनुमण्डल पदाधिकारी द्वारा टाल मटोल के नियत से इस विभागीय कारवाई को मुकदमा का रूप देकर सूचना नहीं उपलब्ध कराया जा रहा है। इससे साफ जाहिर होता है कि जनवितरण प्रणाली में व्याप्त भ्रष्टाचार किस तरह फल-फूल रहा है