20 हज़ार ग्राम रोजगार सहायकों ने प्रदर्शन किया, विपक्ष ने बहती गंगा में हाथ धोएं

MP
Janmanchnews.com
Share this news...
Sarvesh Tyagi
सर्वेश त्यागी

भोपाल। स्थायी संविलियन जिला संवर्ग में नियमितीकरण की मांग को लेकर बुधवार को राजधानी भोपाल के तुलसी नगर स्थित अंबेडकर पार्क में प्रदेश भर के करीब 20 हजार ग्राम रोजगार सहायकों ने अर्द्धनग्न प्रदर्शन कर सरकार पर वादा खिलाफ का आरोप लगाकर नारेबाजी की। ग्राम रोजगार सहायक, पंचायत सहायक सचिव कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष रोशनसिंह परमार ने प्रदर्शन के दौरान चेतावनी दी अगर रोजगार सहायकों की एकमात्र मांग नियमितीकरण को पूरा नहीं किया तो जनवरी में बड़े तालाब में जल सत्याग्रह किया जाएगा।

मौके पर चौका मारते हुए विपक्ष कई नेताओं ने इस प्रदर्शन में शामिल हुए, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुजरात में होने पर प्रर्दशनकारियो को फोन पर संबोदित किया।

गौरतलब है कि प्रदेश की 23 ग्राम पंचायतों में सहायक सचिव के रूप में काम कर रहे रोजगार सहायक लंबे समय से नियमितीकरण और पंचायत सचिवों की भांति जिला संवर्ग में संविलियन की मांग करते आ रहे हैं। अंतत: उनका आक्रोश फूट बड़ा और उन्होंने शीतकालीन सत्र के दौरान विधानसभा घेराव का निर्णय लेते हुए राजधानी में डेरा डाल दिया। जीआरएस का नेतृत्व कर रहे संघ के प्रदेशाध्यक्ष रोशनसिंह परमार के आह्वान पर धरने पर बैठे।

ज्योतिरादित्य सिंधिया गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनजर वहां प्रचार करने गए हैं। इधर धरना स्थल पर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, विधायक रामनिवास रावत और चित्रकूट से नवनिर्वाचित विधायक नीलांशु चतुर्वेदी सहित युवा इंका नेता कुणाल चौधरी और बसपा विधायक आंदोलनकारियों के बीच पहुंचें, जहां उन्होंने ग्राम रोजगार सहायकों और पंचायत सचिवों को संबोधित करते हुए उनकी इन जायज मांगों का समर्थन किया।

इस अवसर पर संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष जितेंद्रसिंह परमार, प्रदेश प्रवक्ता शैलेंद्र चौकसे सहित यशवंत बघेल, हेमंत शर्मा, रमेश बारस्कर, सुमेश सिंह बढ़ोले, शिवराज गुर्जर, राजकुमार जाट, अवधेश गोस्वामी, आदि ने भी संबोधित किया।

कांग्रेस के एजेंडे में नंबर एक पर जीआरएस का मुद्दा:

प्रदर्शनकारी ग्राम रोजगार सहायकों को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल भैया ने कहा कि वे जीआरएस की इन मांगों को जायज मानते हैं और उनके अधिकारों की इस लड़ाई में उनके साथ हैं। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव-2018 में जीआरएस के नियमतीकरण का मुद्दा उनके चुनावी एजेंडे में नंबर एक पर होगा। उधर सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुजरात से फोन पर जीआरएस को संबोधित कर कहा कि हम पूरी ताकत के साथ आपकी लड़ाई को लड़ेंगे और अगले आंदोलन में मैं खुद आपके साथ मौजूद रहूंगा।

धरना स्थल पर पहुंचे कांग्रेस नेताओं को ग्राम रोजगार सहायक, पंचायत सहायक सचिव कर्मचारी संघ के प्रदेशाध्यक्ष रोशन सिंह परमार ने बताया कि नियमितीकरण को लेकर काफी समय से वे सरकार से मांग कर रहे हैं, किंतु सरकार ने इस दिशा में अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठाए। उन्होंने कहा कि अगर जल्दी मांगें नहीं मानी गई तो और बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।