Janmanchnews

जिला दण्डाधिकारी ने आरोपी को एक वर्ष के लिए किया जिलाबदर

16
Anil Upadhyay

अनिल उपाध्याय

देवास | जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर आशीष सिंह ने मध्य प्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत आरोपी भगवान सिंह, अंतरसिंह उम्र 29 वर्ष निवासी अमोना पुलिस थाना आद्योगिक क्षेत्र देवास जिला देवास को एक वर्ष के लिए जिलाबदर किया है।

जिला दंडाधिकारी द्वारा आरोपी को यह आदेश दिया गया है कि वे आदेश प्राप्ति से 24 घण्टे के भीतर, आगामी एक वर्ष की कालावधि के लिये जिला देवास एवं उसके आस पास के सीमावर्ती जिलों इन्दौर, उज्जैन, शाजापुर, सीहोर, हरदा, खण्डवा, खरगोन की राजस्व सीमाओं से बाहर चले जाए तथा जिला दंडाधिकारी न्यायालय की बिना पूर्व अनुज्ञा के प्रवेश ना करें

न्यायालय जिला दण्डाधिकारी देवास में पुलिस अधीक्षक देवास द्वारा प्रतिवेदन दिया गया था कि आरोपी के विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता सहित अन्य अधिनियमों के अन्तर्गत कई अपराध पंजीबद्ध है।

आरोपी भगवानसिंह, अंतरसिंह उम्र 29 वर्ष निवासी अमोना देवास वर्ष 2012 से निरंतर अपराध में लिप्त रहा है। इस अवधि में उसके विरूद्ध पुलिस थाना औद्योगिक पर 9 संज्ञेय अपराध व 5 प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के प्रकरण दर्ज हुए है। आरोपी के विरूद्ध पुलिस थाने में मुख्य रूप से मारपीट, लड़ाई-झगड़ा, गाली गलौच करना, रास्ता रोककर, डराना-धमकाना, बलवा, दहेज प्रताड़ना, अवैध शस्त्र रखना, हत्या का प्रयास आदि गंभीर अपराधों में लिप्तता के कई संगीन अपराध पंजीबद्ध हैं।

उक्त आरोपी की आपराधिक गतिविधियों को नियंत्रित किए जाने की सख्त आवश्यकता थी। अन्यथा किसी भी दिन उक्त अपराधी कोई जघन्य अपराध कर क्षेत्र की लोक शांति व व्यवस्था को भंग कर सकते थे। पुलिस अधीक्षक के प्रतिवेदन के आधार पर उक्त दोनों आरोपियों को जिला बदर किया गया है।