6 बच्चों की माँ को चढ़ा प्यार का जुनून अपने आशिक के साथ पति को दी भयानक मौत की सजा

Murder plan
Janmanchnews.com
Share this news...
mukesh radheshyam solanki
मुकेश सोलंकी

इंदौर (देपालपुर)। पति बन रहा था प्यार में दीवार। दीवार को तोड़ने व प्यार में मस्त रहकर मजा लेने के चक्कर में अपने दो आशिकों के साथ थे अवैध शारीरिक सम्बन्ध, आशिकों से सम्बन्ध रखने रास्ते में पति बनता था रोड़ा, तो पत्नी ने ही अपने दो आशिकों के साथ मिलकर पति को उतरवाया मौत के घाट। यह मामला देपालपुर की है। जहां बीते दो दिनों पहले करीब ढाई किलो मीटर दूर ऐरवास रोड पर अल सुबह रोड किनारे गड्ढे मैं पानी के पास 40 वर्ष के युवक का शव पड़ा हुआ था।

वहीं मोटरसाइकिल रोड से नीचे गिरी हुई। सुबह गुजरने वाले दूध वालों ने शव को देखा तो नगर 100 नम्बर पर सूचना दी। खबर फैलते ही सैकड़ों लोग दुर्घटना स्थल पर पहुंच गए। वहीं सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंची। जहां प्रथम दृष्टया मामला हत्या या दुर्घटना का लग रहा था लेकिन इंदौर से आई एफएसएल टीम ने मौका मुआयना कर देखा तो शव के मुंह पर बोरी का टुकड़ा ढका हुआ था। जिस पर खून लगा हुआ था।

वहीं मोबाइल भी लाश के पास पड़ा हुआ था। साथ ही मृतक की एक चप्पल मौके से गायब थी तथा मोटरसाइकिल की चाबी भी गायब। इसी बात को ध्यान में रखते हुए पुलिस हत्या का मामला मान रही थी की पुलिस ने कड़ी दर कड़ी घटना से जुड़े तथ्यों को जोड़ना शुरू किया और खुलासा हुआ एक अंधे कत्ल का। जिस समय पुलिस मौके ऐ वारदात लाश की तफ्तीश कर रही थी। उस समय हत्यारे भी मौके पर रहकर पुलिस की कार्यवाही देख रहे थे। जब एफएसएल टीम बुलाने की बात आई तो ये आशिक मौके से रवाना हो गए।

बीते दिनों एरवास रोड पर रोड किनारे गड्डे में पड़े शव की सूचना मिलते ही नगर में लोग घटनास्थल की ओर देखने के लिए रवाना हो गए। मौके पर जब शव को देखा तो वह नगर का ही 40 वर्षिय मोहन गोपाल कलोता की थी। नवागत थाना प्रभारी के लिए यह मामला चुनौती भरा रहा क्योंकि उनके आने के बाद यह पहला हत्या का मामला सामने आया था। एफएसएल टीम की जांच के बाद हत्या की बात सामने आते ही पुलिस तफ्तीश में जुट गई और मौके पर महू एसडीओपी, गौतमपुरा थाना प्रभारी व पुलिस स्टाफ इस मामले को सुलझाने की जुगत में लग गए थे। तभी पुलिस ने कड़ी दर कड़ी घटना से जुड़े पहलुओं और सबूतों को जोड़ना शुरू किया खुलासा हुआ ऐसा की जो सबको चौंका के रख दे।

गुमराह करने की आशंका…

घटना स्थल मौका देख ऐसा प्रतीत होता की आरोपी ने मौके पर सब कुछ ऐसा किया। जिससे पुलिस गुमराह हो जाए क्योंकि मौके पर लाश गड्डे किनारे पड़ी थी तो मोबाइल पीछे साइड पड़ा हुआ था। वहीं लाश के चेहरे पर एक बोरा ढका हुआ था। जानकारों की माने तो अगर घटना गाड़ी गिरने या नीचे गिरने से हुई तो गाडी की चाबी कहां गई। वहीं मृतक की एक चप्पल भी मौके पर नहीं मिली। जबकि रात में पानी गिरने से गाड़ी के टायरों में तो मिटटी लगी थी लेकिन सड़क पर मत्र्तक की मोटर सायकल की गाड़ी के टायरों के निशान नहीं दिखाई दिए।

मृतक मोहन को मारने का उद्देश्य जहां पत्नी को खुली आजादी मिल जाती वहीं हत्या का शक वह अपने जेठ-जेठानी पर डाल देती। जिसमें वह सफल होने का प्रयास कर रही थी लेकिन सफल नहीं हो पाई। क्योंकि विगत 1:30 वर्षों में 2 बड़े विवाद हुए। जिसमें भाई और भतीजे ने मिलकर अपने छोटे भाई मृतक को जान से मारने का प्रयास किया था लेकिन वह सफल नहीं हो पाए थे और इसी का फायदा पत्नी ने उठाने का प्रयास किया लेकिन कहते हैं कि हत्या  करने वाला अपना सुराग जरूर छोड़ जाता है।

जिस दिन युवक की मौत हुई। उसी दिन सुबह दोनों भाइयों व परिवार के बीच आपसी राजीनामा होने वाला था। जिसे पत्नी नहीं चाह रही थी।  क्योंकि राजीनामा हो जाता तो आजादी खत्म हो जाती। पति को मारने के लिए पत्नी अपनी प्रेमीयों को ब्रेन वाश करती रही कि इसे मौत की नींद सुला दो। में आजाद हो जाऊंगी व जमीन आपको दे दूंगी। हत्या कर दोगे तो नाम मेरे जेठ जेठानी का आएगा और हम नहीं फंसेंगे और उसी चक्कर में कई दिनों से मौत की नींद सुलाने के प्रयास में थे।

लेकिन मृतक उनके चक्कर में नहीं आ पा रहा था। सोमवार की रात जब युवक बाजार गुटका लेने के लिए गया तब आरोपियों ने बड़े प्यार से उसको अपने बातों में लिया और आरोपी सुनील के खेत पर ले गए जहां शराब पिलाकर टाइमपास करते रहे और जब वह नशे में झूमने लगा तो आरोपियों ने सर के पीछे इस हिसाब से लोहे की रॉड से मारा की युवक की मौत भी हो जाए और उसका पता भी नहीं चले जिसमें हत्यारे सफल भी हुए क्योंकि मृतक के ऊपरी तौर पर कोई चोट के निशान नहीं थे। शार्ट पीएम रिपोर्ट में भी अंदुरनी चोट आई।

हत्यारे इतने शातिर है कि मृतक को मारने के बाद उसके शव को बोरे में भरा और उसकी मोटरसाइकिल पर बांध कर लाए और दुर्घटना का रूप देने के लिए लाश को गड्ढे के किनारे जाकर पटका व मृतक की गाड़ी को रोड किनारे। वहीं से आरोपी अपनी दूसरी मोटरसाइकिल से फरार हो गए। हत्या करने के बाद हत्यारों ने मृतक की पत्नी को सूचना दी कि काम हो गया। पुलिस ने आरोपी की गाड़ी, मोबाइल भी जब्त किया है।

सहयोगी- विमल फौजी

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।