सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में की जा रही हैं प्रति प्रसव ₹500 की अवैध वसूली

women in hospital
Janmanchnews.com
Share this news...
mukesh radheshyam solanki
मुकेश सोलंकी

सरदारपुर/ धार/ जहाँ एक और प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने प्रदेश की भांजियों के लिए अनगिनत योजनाएं प्रदेश सरकार की ओर से दे रहे है वही शिवराज मामा की इन भांजियों को प्रसूति करवाने के लिए भी रिश्वत देना पड़ रही है।

क्या प्रदेश सरकार इन सामूहिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्य कर रहा है महिला नर्स व स्टाफ को सैलरी नहीं दे रही है और इन्हें सैलरी समय पर मिल रही है तो फिर क्यों इन स्टाफ वालों को 500 ₹500 रूपये अवेध रूप से लेने की आवश्यकता पड़ रही है।

देखिए क्या है पूरा मामला÷ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरदारपुर में प्रसूति ग्रह की एएन महिला नर्ष व् सफाई स्टेप के द्वारा की जा रही है प्रसूति पर आई महिला और उनके परिजनों से ₹500 की अवैध वसूली

इस बात का पता आज जब चला कि तब एक गरीब परिवार की महिला और उसके परिजन से नर्स व् सफाई स्टॉप के द्वारा ₹500 मांगे गए व्ही परीजनों के पास पैसे नहीं होने के कारण नर्स और स्टाफ को रुपए नहीं दिए तो नर्सों स्टाफ के द्वारा प्रस्तुति हुई महिला और उनके परिजन को बुरा भला बोला गया और बोला की  महिला की प्रस्तुति हो गई है और अब आप इसे अपने घर ले जाओ इन सब बातों को सुनकर नाराज परिजन पहुंचे सीबीएमओ डॉक्टर नितिन जोशी के पास और इस सारे मामले से सीथे सीबीएमओ डॉक्टर नितिन जोशी को अवगत कराया

वहीँ सीबीएमओ डॉक्टर नितिन जोशी ने ताबड़तोड़ शिकायत पर जानकारी ली तो पता चला प्रसूति गृह मैं नाइट ड्यूटी में दो ए एन सलमा बेगम व दीप्ति मेड़ा और दो अन्य सफाई कर्मी सुगना बाई व विनीता इन चारों नर्सों के द्वारा प्रसूति करवाई गई हे उस दिन ड्यूटी पर ये चारो थी।

प्रसूति करवाने आई महिला और परिजनों ने बताया की आज टोटल 32 डिलिवरी या प्रसूति हुई हे और सभी प्रसूति पर आई महिलाओं और परिजनों से प्रति नर्ष ₹200 चार्ज मांगा जाता है , कुल मिलाकर 4 महिला है जो एक प्रस्तुति करवाने पर 200 रूपये प्रति महिला चार्ज लेती है
इस हिसाब से एक परिजन से ₹800 की अवैध वसूली की मांग की जाती है।

800 नहीं होने की दशा में किसी से 500 तो किसी 700 रूपये लेते हैं और अगर किसी के पास 300 रूपये हैं तो ये वो भी नही छोड़ते

वही प्रसूति पराए महिलाएं व परिजन इस मामले से बेहद नाराज होते नजर आए परिजन जब मीडिया से रूबरू हुए तो अपने शब्दों के बाण रोक नहीं पाए परिजनों का यह मानना है कि जहां एक और शासन महिला और बच्चों के लिए इतनी योजनाएं निकाल रही है वहीं दूसरी ओर सामूहिक स्वास्थ्य केंद्र सरदारपुर के प्रसूति ग्रह के स्टांप एंड और सफाई कर्मचारियों की इस हरकत से शासन की योजनाओ को ये स्टाफ वाले शासकीय नियमों को ताक पर रखकर सरेआम इस तरह का नाजायज व्यवहार स्वास्थ्य केंद्र में कर रहे हैं।

जब मीडिया कर्मी इन महिला नर्सों की बाइट लेने पहुंचे तो नरसे इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए नजर आए दिन इस तरह के मामले हर जगह देखने को मिलते हैं पर सरदारपुर तहसील में पहली बार एक साथ इतने लोगों अवैध वसूली व् भ्रष्टाचारियों के खिलाफ आवाज उठाई। परिजनों का मानना है कुल 32 डिलीवरी रात में 26 तारीख को हुई और प्रति डिलीवरी के हिसाब से इन्होंने ₹500 की अवैध वसूली की टोटल ₹16000 की अवैध वसूली इन महिलाओं के द्वारा की गई।

1 दिन के 16000 के हिसाब से 30 दिन के 480000 रुपए की अवैध वसूली हो रही है जो कि माननीय मुख्यमंत्री जी की सैलरी से भी ज्यादा है और उन महिलाओं की सैलरी ₹36000 पर मंथ है फिर भी इन्हें यह राशि कम पड़ रही है और यह इस तरह की अवैध वसूली को अंजाम दे रही है इनकी इस वसूली के पीछे किन-किन बड़े अधिकारियों का हाथ है यह मामला जांच होने के बाद पता चलेगा।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सरदारपुर नैं अपनी बाइट में कहां सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इस तरह की घटना होना एक गंभीर अपराध है एक बहुत बड़ी भ्रष्टाचारी स्पष्ट रूप से नजर आ रही है अगर इस तरह का मामला हो रहा है तो यह गलत है और इस मामले में जो भी दोषी पाए जाएंगे उन पर स्वास्थ्य विभाग अमले की ओर से सख्त से सख्त कार्रवाई करवाई जाएगी
“डॉ नितिन जोशी, सीबीएमओ- सरदारपुर धार”

 

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।