bhayayu ji maharaj suicide

अन्ना हज़ारे के बहुचर्चित अनशन को तुड़वाने वाले भय्यू जी महाराज ने गोली मारकर की आत्महत्या

48
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

इंदौर। राष्ट्र संत के नाम से जाने जाने वाले भय्यू जी महाराज ने आज ख़ुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। उनका मूल नाम उदय सिंह देशमुख है। आज मंगलवार दोपहर को भय्यू जी अपने घर पर गोली मारी थी। उन्हें तुरंत बॉम्बे अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

सूत्रों ने बताया कि भय्यू जी ने आज स्प्रिंग समर स्थित निवास पर ख़ुद को गोली मार ली। घर में उस समय उनकी माँ और सेवादार ही थे। सेवादार उन्हें लेकर तुरंत बॉम्बे अस्पताल पहुंचे। लेकिन तब तक उनकी मृत्यु हो चुकी थी।

प्रारंभिक पड़ताल में पता लगा है कि भय्यू जी पारिवारिक कलह से परेशान थे। उनको पहली पत्नी का निधन हो चुका है। गत वर्ष उन्होंने अपने आश्रम से सम्बद्ध डॉक्टर आयुषी से दूसरा विवाह किया था। पहली पत्नी से उनके एक बेटी है जो कि पुणे में रहती है। मध्य प्रदेश सरकार ने हाल ही में भय्यू जी महाराज की राज्यमंत्री का दर्जा दिया था लेकिन उन्होंने इसे लेने से इनकार कर दिया था।

कौन हैं भय्यूजी महाराज…

इंदौर के मूल निवासी उदय सिंह देशमुख संत भय्यूजी के नाम से जाने जाते थे। उन्होंने कुछ समय मॉडलिंग भी की थी। बाद में सेवा कार्यों के जरिये उनकी पहुंच बड़े बड़े नेताओं, उद्योगपतियों, अभिनेता, अभिनेत्रियों से हो गयी और वे वीआईपी संत कहलाने लगे।

अन्ना हज़ारे के बहुचर्चित अनशन को तुड़वाने के बाद वे राष्ट्रीय क्षितिज पर ख़ूब चर्चा में रहे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, लता मंगेशकर, उद्धव ठाकरे, शिवराज सिंह आदि सहित अनेक दिग्गज उनके आश्रम में आते रहे हैं।