मुस्लिम महिला पार्षदों

नगर आयुक्त पर लगा गंभीर आरोप, सिर्फ सत्ता पक्ष के पार्षदों के वार्डों में करा रहे हैं विकास

24

मुस्लिम महिला पार्षदों ने‌ नगर आयुक्त के कार्यालय के बाहर दिया धरना, उन्होंने आरोप लगाया कि मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में विकास के नाम पर अबतक कुछ नही….

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: शहर बदहाल है। चारों तरफ गंदगी का अंबार है। गलियो में कूड़ा उठना तो दूर, नियमित रूप से झाड़ू तक नहीं लग रहा। चौका पत्थर लगाने का काम भी ठप है। मुस्लिम बहुल इलाकों की हालत तो और भी बदतर है। महीनों से गलियों में सीवर का पानी बह रहा है। स्ट्रीट लाइट कभी जलती नहीं। आलम यह कि जनहित के मुद्दों से जुड़े प्रस्ताव देने के बाद भी काम नहीं हो रहा। फाइलें दबा दी जा रही हैं। इससे पार्षद खासे परेशान हैं क्योकि जनप्रतिनिधि होने के नाते जवाबदेही उनकी है। क्षेत्र की जनता उनसे सवाल कर रही लेकिन उनके पास कोई जवाब नहीं।

ऐसे में कुछ महिला पार्षदों ने अपने क्षेत्र के विकास कार्यों के लिए नगर आयुक्त से मिलने का वक्त मांगा था। नगर आयुक्त ने पार्षदों को गुरुवार को 11 बजे का वक्त दिया था। जब पार्षद उनके‌ आफिस पहुंचे तो नगर आयुक्त नदारद थे। इससे क्षुब्द होकर महिला पार्षद सहित दर्जनो पार्षद नगर आयुक्त कार्यालय के बाहर नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठ गये।

पार्षदो का सीधा आरोप था कि नगर आयुक्त सिर्फ सत्ता पक्ष के लोगो के क्षेत्रो मे ही कार्य करा रहे है। विपक्षी पार्षदो के क्षेत्रो मे विकास का कार्य नही कराया जा रहा है। खासतौर से मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रो मे एक चौके तक की मरम्मत नही हो रही है।

मौके पर अपर नगर आयुक्त, मुख्य अभियंता, सचिव जलकल के आने पर दो राउन्ड वार्ता विफल हुयी। पार्षदो की मांग थी की हमारे वार्डो की फाइले कब तक स्वीकृत होगी समय बताया जाये।

अंत मे तीसरी राउन्ड वार्ता मे अपर नगर आयुक्त ने 25 जुलाई तक फाइलो को स्वीकृत कराने की बात कही तब जाकर धरना समाप्त हुआ। धरने मे गली, चौका, सड़क, सीवर, नाला, नाली, स्ट्रीट लाइट, गंदा पानी, पुराने टेंडर पर तत्काल कार्य कराने, गृहकर पर सर्वे के नाम से अवैध वसुली आदि सैकड़ो मुद्दो पर पार्षदो ने अपनी मांग उठायी। धरने मे मुख्य रुप से पार्षद गुलराना तबस्सुम, अलीशा सोनी, रेहाना, मलका नूरजहां, नूरजहां परवीन, फरज़ाना बीबी, रमज़ान अली, बेलाल अहमद, रियाजुद्दीन मौलाना तथा पार्षद पति अनीसुर्रहमान अंसारी, असलम खां, अख्तर अली, बेलाल अहमद, गुलशन अली, अनिल शर्मा, पुन्नू लाल बिन्द आदि लोग उपस्थित थे।