hardik patel strike

19 वां दिन हार्दिक ने नारियल पानी पीकर खत्म किया अपना अनशन

117

अहमदाबाद। किसानों की कर्ज माफी की मांग को लेकर पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल मोदी सरकार के खिलाफ 19 दिनों से लगातार कर रहे भूख हड़ताल के बाद बुधवार को नारियल पानी पीकर अपना अनशन खत्म किया। कई दिनों से अनशन पर बैठने की वजह से हार्दिक की तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही थी।

हार्दिक के भूख हड़ताल को लेकर कांग्रेस ने अपना पूरा समर्थन दिया। उन्होंने अपने इस अनशन में जल त्याग करने का फैसला लिया था।  इसी बीच हार्दिक के पूर्व साथी और भाजपा नेता केतन पटेल ने कहा कि पाटीदार समाज अब यह समझ गये हैं कि हार्दिक राजनीतिक कारणों से आंदोलन को किसी तरह जिंदा रखना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पाटीदार समाज के इस मांग को पहले ही मान लिया था तभी उसी दौरान आन्दोलन समाप्त होनी चाहिए थी। मगर हार्दिक ने अपने निजी महत्वाकांक्षा को लेकर इसे किसी तरह जारी रखा। येही कारण है कि अब उन्हें किसी का समर्थन नहीं मिल रहा हैं।

दरअसल, उनके पिछले कार्यक्रमों के दौरान हुई तोडफ़ोड़ के कारण उन्हें इस बार अनशन करने की अनुमति नहीं मिली थी। इसके बाद हार्दिक ने अपने आवास पर ही भूख हड़ताल करने का फैलसा लिया था। वहीं उपवास के 14 वां दिन उनकी तबीयत बिगड़ गयी थी। उसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

बता दें, किसानों की कर्ज माफी की मांग को लेकर पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता हार्दिक पटेल पिछले 25 अगस्त से ही अपने आवास पर भूख हड़ताल पर बैठे थे। इस दौरान उनसे मिलने कई नेता आय थे और उन्हें पूरा समर्थन भी दिया।