Narendra Modi Morcha

नरेंद्र मोदी मोर्चा नाम की संस्था बनाकर करोड़ों की अवैध वसूली, मुख्य आरोपी गिरफ़्तार

23

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तमाल कर करवाता था अधिकारियों के तबादले, पीएमओ तक में सेटिंग के मिले संकेत…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)


 

 

 

 

गाजियाबाद: ठगी करने के नित नये तरीके शातिर अपराधी खोजकर लोगों को बेवकूफ बनाकर करोड़ो कमा रहे हैं, इनमें से कुछ ही ऐसे हैंं जो पुलिस के हाथ आ जाते हैं, वरना ऐसे ठग लंबी चौड़ी रकम बनाकर हवा हो जाते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से मोर्चा बनाकर जिलों, प्रदेश तथा राष्ट्रीय स्तर पर पदाधिकारी नियुक्त करने एवं आईएएस तथा आईपीएस के ट्रांसफर कराने के नाम पर करोड़ों रुपये की वसूली करने वाले मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को आजमगढ़ पुलिस ने गाजियाबाद से गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस को इसके पास से एक हजार से ज्यादा एप्लीकेशन भी बरामद हुई हैं। आरोपी एडीजी और आईएएस के स्थानांतरण तक की पैरवी करता था। पुलिस को इसने बताया कि पीएमओ में भी कुछ लोगों से उसका संपर्क है। लगभग चार माह पूर्व मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री सैयद काजी अरशद ने इनके खिलाफ करोड़ों की अवैध वसूली के मामले में शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया था।

एसपी अजय साहनी ने बताया कि पकड़ा गया नरेंद्र मोदी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष सिंह काफी शातिर है। इसके  पीएमओ में संपर्क होने के जानकारी मिली है। इसके साथ ही कई आईएएस अधिकारियों के इसके संपर्क में होने की बातें भी सामने आ रही हैं।

बरामद दस्तावेजों और पूछताछ में पता चला है कि ये एडीजी और आईएएस अधिकारियों के तबादले की भी पैरवी करता था। आजमगढ़ के एसपी सिटी सुभाष चंद्र गंगवार के तबादले के लिए भी वो पैरवी करने का दावा कर रहा था। स्थानांतरण के बदले इसकी वसूली चलती थी।

नरेंद्र मोदी मोर्चा का गठन कुछ माह पूर्व ही गाजियाबाद निवासी आशीष सिंह राजपूत ने किया था। इस संगठन का पूरे प्रदेश में विस्तार करते हुए जिलास्तर पर संगठन खड़ा कर लिया गया था। आशीष सिंह राजपूत इस संगठन का राष्ट्रीय अध्यक्ष था और आजमगढ़ जिले के रहने वाले सैयद काजी अरशद को पहले प्रदेश अध्यक्ष बताया।