रंगदारी

जेल से रंगदारी मांगने पर इस बदमाश‌ को बनारस से भेजा गया सहारनपुर जेल

38

जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार जेल में निरुद्ध छह और बदमाशों को गैर जनपद की जेलों शिफ्ट करने की तैयारी है…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: जिला जेल में निरुद्ध रहे इस बदमाश ने शहर के कारोबारियों और डॉक्टरों से लगातार रंगदारी मांग कर कानून व्यवस्था के लिए चुनौती पैदा कर दी थी। इसी वजह से पुलिस और प्रशासनिक महकमा हरकत में आया।

नतीजतन, सोमवार की देर रात संतोष शुक्ला को आननफानन में वापस सहारनपुर जेल भेजा गया। पुलिस का मानना है कि बनारस से दूर रहने पर संतोष का आपराधिक नेटवर्क कमजोर होगा और वारदातों में कमी आएगी।

जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार जेल में निरुद्ध छह और बदमाशों को गैर जनपद की जेलों शिफ्ट करने की तैयारी है। अदालत के आदेश पर सहारनपुर जेल से जिला जेल में शिफ्ट हुए संतोष शुक्ला का नाम हाल के दिनों में शहर के एक बटन कारोबारी, सराफा कारोबारियों और डॉक्टरों से रंगदारी मांगने के मामले में लगातार सामने आ रहा था।

बताया जाता है कि इनमें से एक कारोबारी की पहुंच लखनऊ और नई दिल्ली तक है। मामला सार्वजनिक हुआ तो पुलिस महकमा हरकत में आया और आननफानन में संतोष शुक्ला की करतूतों पर शिकंजा कसने की मुकम्मल व्यवस्था कर उसे वापस सहारनपुर जेल भेजा गया।

सोमवार की देर रात संतोष को सहारनपुर जेल में शिफ्ट किए जाने के घटनाक्रम से जिला जेल में निरुद्ध अंगद राय, रामबाबू यादव सहित जरायम जगत के अन्य चर्चित नामों में खलबली मची हुई है। मंगलवार को संतोष को सहारनपुर जेल भेजा जाना जिला जेल की चहारदीवारी के भीतर चर्चा का विषय रहा।

उधर, जिला पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि शांति व कानून व्यवस्था के मद्देनजर जेल में निरुद्ध छह और बदमाशों को गैर जनपद की जेलों में शिफ्ट कराने के लिए रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेजी जा रही है।