prashant kishore

अब प्रशांत किशोर सुलझाएंगे भाजपा और जदयू के बीच सीट बंटवारे का मामला

15

पटना। 2019 में होने वाले आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सभी दल अपनी तैयारी में लगी हुई है। मगर बिहार में NDA गठबंधन के सीट बंटवारे को लेकर घमासान जारी है। अभी भी भाजपा और जदयू के बीच सीट बंटवारे को लेकर अटकले बनी हुई है। इसी कड़ी में जदयू ने सीटों के बंटवारे पर तालमेल की जिम्मेदारी अब चुनावी रणनीतिकार को दी है।

दरअसल, बीते दिनों रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने JDU की सदस्यता को ग्रहण किया। अब सीट बंटवारे को लेकर जदयू राष्ट्रीय अध्यक्ष और CM नीतीश कुमार ने प्रशांत किशोर को यह जिम्मेदारी सौंप दी है। हालांकि, फिलहाल पार्टी के नए सदस्य प्रशांत किशोर को अभी कोई पद नहीं दिया गया है।

लेकिन भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ उनके संबंधों के कारण CM नीतीश कुमार ने राजनीति में और जदयू ने उन्हें  बड़ा टास्क दिया है। हालांकि,  प्रशांत किशोर की राजनीति कुशलता और जदयू में सीटों के तालमेल को कई लोग पहली परीक्षा मान रहे है। मगर वहीं भाजपा फिलहाल बिहार में ज्यादा सीटें देने के मूड में नहीं दिख रही।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार खबर यह आ रही है कि सीट बंटवारे को लेकर अमित शाह और प्रशांत किशोर के बीच मुलाक़ात हो सकती है।

बता दें, सीट बंटवारे को लेकर 20-20 फॉर्मूला को लेकर घमासान चल रही है। वहीं भाजपा खुद 20 , जेडीयू 12, लोक जनशक्ति पार्टी को 6 और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी को दो सीट का बटवारा कराना चाहती है।