निदेशक आशीष आदर्श की मेहनत रंग लाया, पटना हाईकोर्ट ने फिर से मान्यता दी आरकेड बिजनेस कॉलेज को

24

विश्वविद्यालय के पास कॉलेज की मान्यता रद्द करने का कोई उचित कारण नहीं था….

Dharmaveer Dharma

धर्मवीर धर्मा

पटना। पटना हाईकोर्ट ने आरकेड बिजनेस कॉलेज की मान्यता को फिर से बहाल कर दिया है। कोर्ट ने मगध विश्वविद्यालय के आदेश को रद्द कर दिया, जिसके अनुसार आरकेड बिजनेस कॉलेज के संबंधन को रद्द करने की अनुशंसा की गई थी।

न्यायमूर्ति अनिल कुमार उपाध्याय की खंडपीठ ने कहा कि विश्वविद्यालय के पास कॉलेज की मान्यता रद्द करने का कोई उचित कारण नहीं था और विवि ने कॉलेज के सभी कागजातों का सही आकलन नहीं किया। यह फैसला गलत है। कॉलेज की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राजेंद्र प्रसाद सिंह ने कहा कि मगध विवि ने तमाम प्रक्रियाओं के आधार पर कॉलेज को मान्यता प्रदान की थी।

उन्होंने कहा कि विवि ने नियमानुसार निरीक्षण कर उपलब्ध संसाधनों के आधार पर संस्थान को बीसीए व बीबीएम पाठ्यक्रों में स्थाई संवंधन प्रदान किया और फिर जांच कर कई चरणों में धीरे-धीरे सीटें बढ़ाई।

कॉलेज की ओर से अधिवक्ता कृष्णा चेंद्रा ने कहा कि संस्थान वर्ष 1998 से ही अपने स्तरीय प्रोफेशनल पाठ्यक्रमों के लिए जाना जाता है। निदेशक आशीष आदर्श ने कहा कि हमें न्यायप्रणाली पर पूरी भरोसा रहा है। जल्द ही सरकार और विवि के नियमानुसार नामांकन की प्रक्रिया शुरु की जाएगी।