शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाओं से आज भी वंचित है पटना विश्वविद्यालय

student sign
janmanchnews.com
Share this news...
Dharmaveer Dharma
धर्मवीर धर्मा

पटना। पटना विश्वविद्यालय शताब्दी वर्ष पूरा कर चुका है। लेकिन आज भी कई ऐसे डिपार्टमेंट है, यहां शौचालय जैसी बुनियादी सुविधाओं आज भी यहां के छात्र वंचित है। इन सब समस्याओं को छात्र लगातार जुझ रहे है। यह समस्या दरभंगा हाऊस में संचालित सभी विभागों का है। शताब्दी वर्ष पूरा करने वाले विश्वविद्यालय के हिन्दी विभाग 2015 से लाईबरेरियन के कमी के कारण अपनी पुस्तकालय में ताला लग हुआ है।

जबकी स्नातकोत्तर और शोध का काम बीन पुस्तकालय के संभव हीं नहीं है। हैरानी की बात यह है कि2012 से संचालित पत्रकारिता विभाग छह वर्ष बाद भी मीडिया लैब नहीं है। जबकि पत्रकारिता विभाग पुरा का पूरा प्रायोगिक है। पत्रकारीता विभाग में मीडिया लैब, दरभंगा हाऊस में महिलाओं के लिए अलग शौचालय कि मांग और मांग पूरा न होने तक वैकल्पिक व्यवस्था करवाने की मांग के साथ साथ 2015 से बंद परे हिन्दी विभाग के लाईबरेरी को खुलवाने की मांग को लेकर आज मानविकी संकाय काउंसिलर अभिषेक राज द्वारा हस्ताक्षर अभियान शुरू किया गया।

मामले को लेकर काउंसिल के हिन्दी तथा पत्रकारिता विभाग के छात्रों का हस्ताक्षर करवा गया तथा बाकि बचे उर्दू और अंग्रेज़ी विभाग समेत बंग्ला मैथिली, संस्कृत विभाग में हस्ताक्षर करवा कर कल कुलपति को ज्ञापन सौंपा हस्ताक्षर अभियान टीम में रजनीश कुमार, राहुल राजा, शशि रंजन भी शामिल थे।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।