घर से भागा युवा जोड़ा पहुंचा कोतवाली, परिजनों की रजामंदी जानकर कोतवाल नें थानें में करा दी शादी

कोतवाली
Pratapgarh Police took no chance, they made the couple get married in Kotwali when they came there after eloping from their homes; families of bride-groom were present in Police Station too...
Share this news...

प्रतापगढ़ जिले के पट्टी तहसील का मामला, शादी बनी चर्चा का विषय…

Yuvraj SIngh
युवराज सिंह

 

 

 

 

 

 

प्रतापगढ़: समाज की नजरों से छुप छुप कर प्रेम करते प्रेमी युगल ने साथ जीने मरने की कसमें खाई और दोनों परिवार जब रजामंद हुए तो कोतवाली में ही दोनों ने एक दूसरे को जयमाल डालकर शादी रचा ली।

इस अनोखी घड़ी के गवाह बने पुलिसकर्मी, जो कोतवाली में हो रही शादी के घराती और बराती भी रहे। मामला पट्टी कोतवाली क्षेत्र के गडौरी गांव का है, जानकारी के अनुसार पट्टी कोतवाली क्षेत्र के चरैया गांव के निवासी अच्छेलाल की पुत्री अर्चना तथा किठौली जलालपुर के सूरज पुत्र राजू के बीच अर्से से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों एक दूसरे से हमेशा मिलते रहे। इन दोनों का प्रेम धीरे-धीरे बढ़ता गया और साथ जीने मरने की कसमें खाने लगे। किन्तु समाज उनके आगे बाधा बनकर खड़ा हो गया। ऐसे में दोनों घरवालों को बिना बताए फरार हो गए।

इस मामले में अर्चना की मां ने पट्टी कोतवाली में तहरीर देकर सूरज पुत्र राजू के ऊपर बेटी को भगा ले जाने का आरोप भी लगाया। इस पर पुलिस दोनों की तलाश करती रही। मामले मे अचानक उस समय एक नया मोड़ आ गया जब प्रेमी युगल के परिजन एक होकर दोनों की शादी करने का निर्णय ले लिया तथा प्रेमी प्रेमिका को पट्टी कोतवाली में बुलाकर कोतवाल संजय शर्मा के सामने एक दूसरे को माला पहनाई और साथ निभाने का संकल्प लिया गया।

इस अनोखी शादी में गडौरी के प्रधान राकेश सिंह की भी मुख्य भूमिका रही, जिन्होंने प्रयास कर दोनों परिजनों को एक करने में कामयाबी हासिल की। कोतवाली में दोनों को माला पहनाते हुए एक दूसरे ने संकल्प लिया कि दोनों एक साथ रहेंगे  तथा एक परिवार की जिम्मेदारी निभाते हुए  लड़की को किसी भी प्रकार का लड़के की पक्ष की ओर से कष्ट नहीं होगा। शादी की चर्चा क्षेत्र के आसपास के गांव में भी हो रही है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।