Shivraj chauhan

प्रत्यशियों को राज्यसभा में जाना प्रदेश के लिये गर्व की बात: मुख्यमंत्री

16
Sarvesh Tyagi

सर्वेश त्यागी

भोपाल। राज्यसभा के लिए भाजपा के चारों प्रत्याशी थावरचंद्र गहलोत, धर्मेन्द्र प्रधान, अजय प्रताप सिंह और कैलाश सोनी ने सोमवार को विधानसभा में नामांकन दाखिल कर दिया है। इससे पहले भाजपा के सभी प्रत्याशी सोमवार सुबह दस बजे प्रदेश भाजपा कार्यालय पर पार्टी संस्थापकों की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने पहुंचे। इसके बाद वे विधानसभा नामांकन जमा करने पहुंचे। करीब 11 बजे सभी ने नामांकन दाखिल किया| इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान, संगठन महामंत्री सुहास भगत और संसदीय कार्यमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा भी मौजूद रहे।

ये है प्रत्याशी…

प्रदेश भाजपा महामंत्री एवं कार्यालय मंत्री अजय प्रताप सिंह और नरसिंहपुर के भाजपा जिलाध्यक्ष व मीसाबंदी संंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैलाश सोनी को मप्र से राज्यसभा की शेष दो सीटों से प्रत्याशी बनाया है। वहीं पिछली सूची में भाजपा हाईकमान ने 7 मार्च को केंद्रीय मंत्री थावरचंद्र गहलोत एवं धर्मेन्द्र प्रधान को मप्र से राज्यसभा भेजे जाने का ऐलान किया था।

सीएम बोले प्रत्यशियों का राजसभा जाना गर्व की बात…

बीजेपी के चारों प्रत्यशियों द्वारा राज्यसभा के लिए नामांकन भरे जाने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभ प्रत्याशियों की तारीफ की| उन्होंने कहा है कि धमेंद्र प्रधान मप्र से राजसभा जायँगे ये गर्व की बात है। अपनी नेतृत्व क्षमता से प्रदेश का विकास करेंगे| केन्दीय मंत्री थावरचंद गहलोत को जो भी जिम्मेदारी मिली उसे पूरी ईमानदारी से निभाया। और कैलाश सोनी के रूप में एक आदर्श राजनेता राजसभा जाएंगे| अजय प्रताप सिंह ने युवा मोर्चा में रहते हुए पार्टी के विकास में अहम भूमिका निभाई, पार्टी में उन्हें जो भी काम दिया उन्होंने पूरी निष्ठा के साथ उसे पूरा किया है।

चुनाव में होगा फायदा

हाईकमान ने शेष दोनों प्रत्याशियों के नामों का ऐलान राज्यसभा प्रत्याशियों के नामों पर रविवार को दिनभर चली बैठक के बाद लिया। कैलाश सोनी का नाम संघ की तरफ से आगे बढ़ाया। नागपुर में भाजपा अध्यक्ष के साथ हुई बैठक में सोनी का नाम राज्यसभा के लिए दिया गया था। इसी तरह अजय प्रताप सिंह के नाम को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आगे बढ़ाया है। सिंह के लिए मप्र भाजपा की ओर से भाजपा आलाकमान को तर्क दिए गए कि सिंह विंध्य में पार्टी के बड़े नेता है। अजय प्रताप सिंह को राज्यसभा भेजे जाने से भाजपा को अगले विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव में फायदा होगा। विंध्य में कांग्रेस के अजय सिंह का काफी प्रभाव है।