ब्लैक में बिक रहे हैं नए नोट

janmanchnews.com
Share this news...

बस स्टैंड गली नंबर 12 बाजार नंबर 9 नंबर बाजार नोटों के हार सजे हुए देखे जा सकते हैं

धर्मवीर शर्मा  की रिपोर्ट,

अबोहर (पंजाब)। आर.बी.आई. द्वारा नोटों की संभाल के लिए कड़े निर्देश जारी किए जाने के बावजूद शादी-विवाह के लिए हारों में जम कर इनको स्टैपल किया जा रहा है।

भारतीय संस्कृति के अनुसार शादी व शगुन की रस्में तब तक अधूरी समझी जाती हैं जब तक दूल्हे के गले में नए नोटों के हार न डाले जाएं व शादी -विवाह जैसे समारोहों में नए नोटों की बरसात न की जाए।

गौरतलब है कि आम बैंकों में तो नई करंसी नहीं मिलती, लेकिन इतनी भारी मात्रा में हार बनाने वालों के पास नई करंसी कहां से पहुंचती है।  क्रेज के कारण लोगों ने दो सौ का नोट 300 लेकर साडे ₹350 तक सौ रुपए में खरीदा। दस-दस के नए नोटों की कापी तीन-तीन हजार में इन हार बनाने वालों ने सेल की।

जब दो हजार रुपए  व पांच सौ रुपए के नोट नए आए थे तब भी जम कर नोटों को ब्लैक किया गया।

आर.बी.आई. की ओर से नोटों को स्टैपल करने की मनाही के बावजूद सरेआम प्रत्येक शहर में हार वालों ने इनको स्टैपल कर हारों से दुकानें सजाई हुई हैं। भारतीय नई करंसी समेत डालर तक नए लेने हो तो इन हार बनाने वालों के पास उपलब्ध होते हैं। ये जम कर ब्लैक करते हैं।

हार बनाने वाले एक कारोबारी ने बताया कि वे नई करंसी दिल्ली से ब्लैक में लाते हैं, जिसको वे आगे उसकी मांग के अनुसार ब्लैक करते हैं। क्या आर.बी.आई. इन ब्लैकमेलरों पर ध्यान केन्द्रित करेगी?

 

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।