रहीस लगायेंगे गरीबों के स्कूलों की बोली

School
Demo Photo
Share this news...

पीपीपी के नाम पर विधालयों की नीलामी के खिलाफ तहसीलों पर विरोध प्रदर्शन आज बुधवार को….

Omprakash Varma
ओमप्रकाश वर्मा

धौलपुर। राज्य सरकार द्वारा  पीपीपी के नाम पर स्कूलों को नीलाम कर बेचने के निर्णय के खिलाफ शिक्षा चिकित्सा बचाओ अभियान के तहत 27 दिसम्बर बुधवार को प्रदेश के तहसील मुख्यालयों पर विरोध प्रदर्शन कर तहसीलदार/एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन दिये जायेंगे। धौलपुर तहसील स्तर का विरोध प्रदर्शन 2 बजे से कलेक्ट्रेट पर होगा।

शिक्षक संघ शेखावत के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष यादवेन्द्र शर्मा ने बताया कि गरीबों की स्कूल कहीं जाने वाली सरकारी स्कूल अब अमीरों की झोली भरेगी। क्योंकि सरकार ने 300 स्कूलों को पीपीपी मोड पर देने का निर्णय लिया है। उनको नीलामी के जरिये निजी हाथों में सौपा जायेगा। यानी जो जितनी ज्यादा बोली लगायेगा सरकारी स्कूल उसकी झोली में होंगे।

इससे साफ है कि इन स्कूलों का संचालन बडी फर्म के हाथ ही होगा। फिलहाल सरकार ने 300 स्कूलों की नीलामी के लिये निविदा ड्राफ्ट तैयार किया है जिसमें 60 लाख रू. की अमानत राशि और 30 करोड़ रू. की बैंक गारंटी के साथ निविदा आमंत्रित की जायेंगी। सरकारी स्कूल जिन निजी हाथों में होंगे। वे स्कूल प्रबंधन के लिए पूरी तरह स्वतंत्र होंगे, उनका अपना स्टाफ और प्रबंधन होगा।

प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष यादवेन्द्र शर्मा ने कहा कि सरकारी स्कूलों को अपने चहेते पूंजी पतियों को लाभ पहुंचाने की नीयत ही सरकार की नीति है। इससे गरीब परिवार की जेब ढीली होगी और पूंजीपतियों की जेब गर्म होगी।  

इसी प्रकार राज्य सरकार सरकारी अस्पताल सहित अन्य सार्वजनिक संस्थानों को पीपीपी के तहत निजी हाथों में दे रही है। इसलिये इस नीति के खिलाफ संगठन ने प्रान्तव्यापी आन्दोलन का निर्णय लिया है। आन्दोलन में शिक्षक संगठनों, नर्सेज संगठन, प्रशिक्षित बेरोजगार, छात्र एवं आमजन को शामिल कर आन्दोलन किया जायेगा।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।