मुख्य सचिव व डीजीपी को बर्खास्त के लिए विपक्षी विघायक दलों ने किया विधानसभा में हंगामा

Share this news...
Rohit Kumar Mishra
रोहित कुमार मिश्रा

रांची। मुख्य सचिव राजबाला वर्मा और डीजीपी डीके पांडेय को हटाने और बर्खास्त करने की मांग को लेकर विपक्षी दलों के विधायकों ने विधासभा के बाहर जोरदार हंगामा किया।

विधानसभा का बजट सत्र शुरु होने से पहले विपक्ष के नेता हेमंत सोरेन और अन्य विपक्षी विधायक हाथ में तख्ती लिए खड़े दिखें। तख्तियों में लिखा था कि भ्रष्टाचार करने के आरोपी मुख्य सचिव राजबाला वर्मा को पद से हटाया जाए और उन्हें बर्खास्त किया जाए।

इसके अलावा तख्तियों में बकोरिया कांड में एक नक्सली और 11 निर्दोष लोगों की फर्जी मुठभेड़ में हत्या करने के मामले में डीजीपी डीके पांडेय को हटाने और बरखास्त करने की मांग की गयी है। कुछ तख्तियों में एडीजी स्पेशल ब्रांच के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की गयी है।

विपक्षी विधायक इन तीनों अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए नारेबाजी भी करते रहे। कुछ तख्तियों में विधायक यह मांग कर रहें है कि मुख्यमंत्री रघुवर दास माफी मांगे। तख्तियों में लिखा है कि सदन में गाली-गलौज करने वाले मुख्यमंत्री माफी मांगे।

उल्लेखनीय है कि पिछले सत्र में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष और विधानसभा के विपक्ष के नेता हेमंत सोरेन को गाली दी थी। जिसके बाद सदन में जम कर हंगमा हुआ था और विपक्षी विधायकों ने विधानसभा परिसर में ही मुख्यमंत्री का पुतला फूंका था।

Share this news...