‘जाति के नाम पर छुआछूत सबसे बड़ा अभिशाप है’ बनारस में बोले योगी

Share this news...

बच्चे स्कूल जाकर रविदास के बारे में जानें इसलिए रविदास जयंती पर छुट्टी रद्द की..

Shabab Khan
शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

वाराणसी: संत रविदास की जयंती के अवसर पर उत्तरप्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज बनारस में थे। जयंती के उपलक्ष्‍य में आज वाराणसी में भव्‍य आयोजन हो रहा है। सीर गोवर्धन स्‍थित संत रविदास मंदिर में मत्‍था टेकने दूर-दूर से श्रद्धालु बनारस पहुंचे हैं। इसी क्रम में प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी गुरु दरबार पहुंचे।मंदिर में आयोजित भव्‍य कार्यक्रम के दौरान मुख्‍यमंत्री ने यहां देश-विदेश से आये श्रद्धालुओं को भी संबोधित किया। अपने संक्षित भाषण में मुख्‍यमंत्री ने कहा कि इस देश के अंदर रविदास जी के सिद्धांत पर समतामूलक समाज की स्थापना हो, यही हम सबकी कामना है। उन्‍होंने इस बात की पैरवी भी की कि सबको अपने मुताबिक आराधना की आजादी होनी चाहिये।

योगी
Yogi in Varanasi on Ravidas Jayanti…

उन्‍होंने कहा, ”यहाँ मैं देख रहा हूं कि सभी प्रान्त के पंडाल टेंट लगे हैं। सभी रविदास के प्रति श्रद्धा प्रकट कर रहे हैं। यही आस्था हम सबको जोड़ती है। इस आस्था पर प्रहार करने वाला चकनाचूर हो जाता है।” मुख्‍यमंत्री ने बताया कि वह प्रधानमंत्री के निर्देशानुसार रविदासियों के बीच पहुंचे हैं।

मुख्‍यमंत्री ने कहा, ”जाति छुआछूत के नाम पर भेद सबसे बड़ा अभिशाप है। सभी मनुष्य में ईश्वर का वास है। कोई अयोग्य नही है। एक ही भाव विचार है, हम सब भारत के वासी हैं। भारत सुरक्षित होगा तो हम सब सुरक्षित होंगे। भारत मजबूत होगा हम सब मजबूत होंगे।”

हमेशा की तरह मुख्‍यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की चर्चा मंच से करते हुए कहा कि जब वह कहीं जाते हैं तो पूरी दुनिया की नजर उन पर रहती है। उन्‍होंने कहा, “पूरा अमेरिका मोदी जी के स्वागत में उमड़ पड़ता है। चीन में भी स्वागत होता है। भारत की तर्ज पर दूसरे मुल्क विकास करना चाहते हैं। कोई भेद भाव नही है। इतनी बड़ी आबादी वाला देश कैसे चुनाव सम्पन्न करता है पूरी दुनिया चौंकती है।”रविदास जयंती पर छुट्टी रद्द करने पर सफाई देते हुये मुख्‍यमंत्री ने कहा, “आप भी सोचते होंगे कि सभी शिक्षण संस्थानों में रविदास जयंती पर छुट्टियां क्‍यों रद्द कर दी गयी। इसलिये क्‍योंकि घर पर छुट्टी मनाने की जगह बच्‍चे स्‍कूल में जाकर ये जाने कि कैसे काशी से एक महान संत ने पूरी दुनिया को मानवता और समता का संदेश दिया था। आज पूरे यूपी में रविदास जी पर कार्यक्रम हो रहें हैं।”

मुख्‍यमंत्री ने रविदास मंदिर के पदाधिकारियों, वाराणसी के अधिकारियों और विधायकों को निर्देर्शित भी किया कि आप सब मिलकर एक प्‍लान तैयार करें कि कैसे इस पुण्‍य भूमि को और ज्‍यादा आकर्षक रूप दिया जा सकता है। सरकार पैसा खर्च करेगी। उन्‍होंने कहा, ”मोदी जी के रहते हुए, मेरे मुख्‍यमंत्री रहते हुए आपको किसी के सामने हाथ फैलाने की आवश्‍यक्‍ता नहीं है। ये तो हमारी ड्यूटी है।”

मैं और आप एक ही परंपरा से आते हैं। अपने उद्बोधन में मुख्‍यमंत्री ने वहां उपस्‍थित सभी श्रद्धालुओं से कहा, “मेरी और आपकी परम्परा एक ही है, इसे गुरु परंपरा कहते हैं। आप सब को मैं आश्वश्त करता हूं कि केंद्र और राज्य की सरकार किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं होने देगी।”

Share this news...