BREAKING NEWS
Search
Durgapuja Festival

इन नौ वस्तुओं से करें मां दुर्गा की पूजा, पूरी होंगी सभी मनोकामनायें

3
Omprakash Varma

ओमप्रकाश वर्मा

धर्म डेस्क। आज से मां दुर्गा की पूजा पाठ वाला दिन शुरु हो रहा है। नवरात्रि पर नौ दिनों के व्रत का विशेष महत्‍व होता है। विधि-विधान और सच्‍चे मन से जो भी मां की पूजा-अर्चना करता है,उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। लेकिन पूजा करने के साथ ही लोग सिद्ध साधना भी करते हैं।

ऐसे में कई बातों का ध्‍यान रखना होता है, ताकि व्रत सफलतापूर्वक सिद्ध हो सके। मां दुर्गा की पूजा में नौ चीजों का प्रयोग करने से मां प्रशन्‍न होती हैं और उनकी विशेष कृपा होती है। मां दुर्गा के नौ अवतार हैं, ऐसे में सभी रूपों की अलग-अलग तरीके से पूजा करने का विधान है।

Durgapuja Festival

Janmanchnews.com

ये नौ वस्‍तुएं मां को चढ़ाएं-

नवरात्रि के पहले दिन प्रतिपदा को गौ घृत से षोडशौपचार पूजा कर गौ धृत अपर्ण करें। इससे आरोग्य लाभ होता है।

दूसरे दिन शक्कर का भोग दान करें, यह दीर्घायु कारक होता है।


तीसरे दिन दूध की प्रधानता होती है। पूजन में दूध चढ़ाएं और उसे ब्राह्मण को दान करें। यह मुक्ति का साधन माना जाता है।


चौथे दिन मालपुआ का नैवेद्य अर्पण करें। इससे बुद्धि का विकास होता है, साथ ही निर्णय लेने की क्षमता बढ़ती है।


पांचवे दिन मां स्कंदमाता की पूजा करके भगवती दुर्गा को केले का भोग लगाना चाहिए और यह प्रसाद ब्राह्मण को दान कर देना चाहिए। ऐसा करने से बुद्धि का विकास होता है।


छठवें दिन को कात्‍यायनी षष्ठी कहते हैं। इस दिन मां के पूजन में मधु (शहद) चढ़ाएं। इसके प्रभाव से साधक को सुंदर रूप प्राप्‍त होता है।


सातवें दिन मां कालरात्रि भगवती की पूजा में गुड़ का नैवेद्य अर्पित करके ब्राह्मण को दान करना चाहिए। इससे व्यक्ति शोकमुक्त होता है।


आठवां दिन अष्‍टमी के रूप में मानते हैं। इस दिन महागौरी को नारियल का भोग लगाना चाहिए। इसके बाद नारियल को सिर से घुमाकर बहते हुए जल में प्रवाहित कर देना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से सभी इच्‍छाएं पूरी होती हैं।


नौंवे दिन (नवमी तिथि) मां सिद्धिदात्री को विभिन्न प्रकार के पकवान हलवा, चना-पूरी, खीर और पुए बनाकर चढ़ाना चाहिए और गरीबों को प्रसाद के रूप में बांटना चाहिए। यह करने से जीवन में सुख-शांति मिलती है।