Saudi Arabia

सऊदी अरब की राजधानी रियाद पर बैलेस्टिक मिसाईल से हमला, शाही महल था मिसाईल का लक्ष्य

51

एक बैलिस्टिक मिसाइल ने अल-यमामा महल में शाही अदालत को लक्षित किया, जहां सऊदी नेताओं की एक बैठक चल रही थी: हौदी प्रवक्ता….

रियाद की ओर आती मिसाईल को वायु सुरक्षा बल नें इंटरसेप्ट कर हवा में ही किया नष्ट…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

दुनिया डेस्क: मंगलवार को सऊदी वायु सुरक्षा सेना ने राजधानी रियाद की ओर आ रही एक बैलेस्टिक मिसाईल को इंटरसेप्ट करके हवा में ही नष्ट कर दिया, जिससे एक बड़ा हादसा टल गया, सऊदी गठबंधन ने बताया कि यमन में एक ईरान-गठबंधन समूह द्वारा हमलों की श्रृंखला में यह नवीनतम हमला था।

हौदी आंदोलन के एक प्रवक्ता ने कहा कि बैलिस्टिक मिसाइल को अल-यमामा महल की शाही अदालत को लक्ष कर चलाया गया था जहां सऊदी नेताओं की एक बैठक चल रही थी। इस हमले पर कोई आधिकारिक शब्द नहीं है, लेकिन शाही परिवार के एक सदस्य ने मिसाइल हमले की पुष्टि करते हुए कहा कि यह शाही महल की बैठक को लक्ष करनें के उद्देश्य से किया गया हमला था।

“गठबंधन सेना ने रियाद के दक्षिण में एक ईरानी-हौदी मिसाइल को इंटरसेप्ट कर हवा में नष्ट करने की पुष्टि की है। इस समय कोई भी हताहत होने की खबर नहीं है,” सऊदी सरकार की एक एजेंसी ‘सेंटर फॉर इंटरनेशनल कम्युनिकेशन’ ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है।

यह हमला रियाद में होने वाले एक संवाददाता सम्मेलन से कुछ घण्टा पहले हुआ जिसमें देश के वार्षिक बजट की घोषणा होना तय थी।

समाचार एजेंसी रियुटर्स के पत्रकारों नें बताया कि उन्होने पहले एक विस्फोट की आवाज़ सुना, फिर रियाद के उत्तर-पूर्व के आकाश में धुंआ देखा। 4 नवम्बर को रियाद के किंग ख़ालेद एयरपोर्ट को लक्ष करके चलाई गई एक और बैलेस्टिक मिसाईल को सऊदी वायु सुरक्षा बल पहले ही हवा में नष्ट कर हौदी समूह के हमले नाकाम कर चुका है, इस हमले पर सऊदी नें तीखी प्रतिक्रिया दी है।

सऊदी अरब ईरान पर लगातार आरोप लगा रहा है कि वो बैलेस्टिक मिसाईलों की खेप की तस्करी यमन में हौदी लड़ाकों के लिए कर रहा है। उसनें संयुक्त राष्ट्र से अपने निरीक्षण तरीको को और कड़ा करने को कहा है। सऊदी ने पहले ही यमन की सीमा की नाकेबंदी कर रखी है, लेकिन यह नाकेबंदी मिसाईलों की तस्करी को रोकने मे नाकाफी नजर आ रही है।

पिछले हफ्ते, संयुक्त राज्य अमेरिका ने पहली बार जॉंच के बाद कहा कि ईरान द्वारा यमन में हौदी आंदोलनकारियों को हथियारों की आपूर्ति की गई थी। अमेरिका नें कहा कि निर्णायक सबूतों के रूप में पता चला है कि तेहरान संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन कर रहा है। सऊदी अरब के क्षेत्रीय दुश्मन ईरान ने हौदियों को ऐसे (बैलेस्टिक मिसाईल) हथियारों की आपूर्ति करने से इनकार कर दिया।

हौदी आंदोलनकारियों नें अपने गृह युद्ध के दौरान यमनी राजधानी साना और देश के अन्य हिस्सों पर कब्जा कर लिया है। जिनेवा में, एक संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रवक्ता ने कहा कि सऊदी अगुवाई वाली गठबंधन द्वारा हवाई हमलों ने 6 दिसंबर से यमन में कम से कम 136 नागरिक और गैर-लड़ाकों को मार दिया था, बदले में हौदी आंदोलनकारियों द्वारा मौका देख कर बैलेस्टिक मिसाईलों से सऊदी अरब की राजधानी रियाद बार-बार हमला किया जा रहा है।