rohtas

व्यवसायी अपहरण मामले में रोहतास पुलिस ने पांच किडनैपर्स को धर दबोचा

32
Betab Ahmad

बेताब अहमद

रोहतास। सीमावर्ती भोजपुर जिले के मुख्यालय से सोमवार को अपहृत व्यवसायी बीती रात रोहतास जिले के अगरेर थाना क्षेत्र से बरामद कर लिया गया। मध्य रात्रि में दो घंटे चली कार्रवाई में रोहतास पुलिस ने सफलता पाई। मौके से पांच किडनैपर्स  गिरफ्तार कर लिए गए। अपहरण में प्रयुक्त एक टवेरा कार भी जब्त कर ली गई है। अपराधियों के पास मिले एक पिस्टल और कुछ गोलियां भी जब्त की गई है। उनके पास मिले आठ मोबाइल फोन की जांच की जा रही है ताकि इसकी मदद से गिरोह के अन्य सदस्यों को भी पकड़ा जा सके।    

मंगलवार दोपहर पुलिस मुख्यालय देहरी में प्रेस के सामने प्रस्तुत करते हुए एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बीती रात मिली सूचना के आधार पर एसपी सत्यवीर सिंह ने मुख्यालय डीएसपी के नेतृत्व में अगरेर, चेनारी, शिवसागर व करगहर के थानाध्यक्ष की टीम बना कर भोजपुर से जुड़ने वाली तमाम सड़कों को सील कर वाहनो की जांच शुरू की गई। रात ढाई बजे बराड़ीह के पास आई BR 0 3 U 9111 नंबर की टवेरा गाड़ी को रुकने का इशारा किया गया पर उसमे बैठे लोग भागने का प्रयास करने लगे। तभी अपहृत व्यवसायी ने पुलिस को इशारा किया। इसपर पुलिस ने अपहरताओं को अपने गिरफ्त में ले लिया।

गिरफ्तार बदमाशों में पूर्वी नवादा आरा के संजय कुमार यादव, वहीं का दूसरा विकी कुमार, लक्ष्मीपुर आयर भोजपुर का अविनाश कुमार, अन्नाइठ आरा का विवेक कुमार उर्फ गपू व मझौआं आरा का तरुण कुमार चौधरी शामिल है।

बरामद किए गए अपहृत आरा शहर के रस्सी बागान नया टोला के निवासी जगन्नाथ प्रसाद का पुत्र विद्यानंद प्रसाद है। वह शिलांग में रहकर अपना व्यवसाय करता है और कुछ दिनों के लिए घर आया हुआ था. तभी कल रात उसे अपने घर के पास से ही फिरोती के लिए उठा लिया गया। बदमाशों की पिटाई से वह जख्मी भी है। दहशत के मारे अभी उसे बोलने में भी परेशानी हो रही है। बताया जाता है कि किडनैपर्स ने उसके अपहरण में दो करोड़ फिरोती मांगा था।