Rural Housing workers

मांगों को लेकर मुख्यमंत्री तथा ग्रामीण विकास मंत्री का पुतला दहन किया ग्रामीण आवास कर्मियों ने

53
Rajnish

रजनीश

गोपालगंज। बिहार राज्य ग्रामीण आवास कर्मी संघ के आह्वान पर जिले के ग्रामीण आवास सहायक अपनी मांगों को लेकर आठवें दिन भी  हड़ताल पर हैं। साथ ही ग्रामीण आवास सहायक धरना और प्रदर्शन साथ-साथ ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार एवं मुख्यमंत्री का पुतला दहन भी किया।

संघ के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार राम ने कहा कि पिछले 26 मार्च से गोपालगंज जिले के अम्बेडकर चौक पर सभी ग्रामीण आवास कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं लेकिन गूंगी सरकार के तरफ से अभी तक सकारात्मक निर्देश जारी नहीं किया गया है। जबकि कर्मियों के वरख़ास्तगी की धमकी दी जा रही है जो कि सरकार के तरफ से एक दमनकारी रवैया है।

संघ की ओर से जो सात सूत्री मांगें रखी गयी है। जिसमें वर्षों से लंबित मानदेय का भुगतान, मानदेय में सम्मान जनक वृद्धि, सेवा अवधि को 11 माह न कर 60 बर्षो तक का विस्तार समेत PF की कटौती के साथ साथ जीवन बीमा एवं मेडिकल भत्ता एवं सहायकों पर दर्ज मुकदमों को वापस लेने आदि है।

सरकार के द्वारा बनाये गए कमिटी के बार बार तिथि बिस्तार से क्षुब्ध होकर संघ ने 26 मार्च से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया था। ग्रामीण आवास संघ के जिलाध्यक्ष ने कहा कि ग्रामीण आवास सहायक सरकार के प्रधानमंत्री आवास योजना के साथ साथ अन्य सभी महत्वपूर्ण कार्यों को पूरी ईमानदारी से काम करते हैं।

बावजूद इसके हमें कुशल मजदूर से भी कम मजदूरी के रूप में मानदेय दिया जा रहा है। ग्रामीण आवास कर्मियों के द्वारा अनेक राजनीतिक दलों तथा कार्यकर्ताओं को ज्ञापन भी सौंपा गया लेकिन अभी तक सरकार के द्वारा कोई ठोस कदम नही उठाया गया। जिसके उपरांत संघ के निर्णय पर कर्मियों द्वारा पुतला दहन किया गया। जिसमें संघ के जिला अध्यक्ष धर्मेन्द्र कु राम, सुनील कुमार, नवीन कुमार, रजनीश कु गुप्ता, धनंजय प्रभाकर आदि थे।