जनमंच न्यूज में प्रकाशित खबर का हुआ असर…विवाहिता गुड़िया को मिला न्याय

Janmanch News
JanManch News
Share this news...
Santosh Raj
संतोष राज
समस्तीपुर। बेटी एक की नहीं बल्कि समाज की बेटी होती है। इसे प्रमाण कर दिखाया है खानपुर थाना क्षेत्र के जिला पार्षद स्वर्णिमा सिंह ने।

जानकारी के मुताबिक खानपुर थाना क्षेत्र के मधु टोला की रहने वाली गुड़िया अपने पति और ससुराल पक्ष से ( 50000) पचास हजार रूपये नगद दहेज के रूप में मांग किया जा रहा था। गुड़िया के परिवार वाले गरीब होने के कारण दहेज में जो पचास हजार नगद मांग किया गया उसे पूरा नहीं कर पाए।

ज्ञात हो कि पिछले दो वर्षों से दहेज के रकम गुड़िया के ससुराल वाले को नहीं मिलने से गुड़िया को घर से निकाल दिया गया था। गुड़िया मायके के दहलीज पर बैठकर ससुराल जाने का इंतजार कर रही थी।

कहीं से इंसाफ नहीं मिलने के बाद उसने अपने क्षेत्र की जिला परिषद सदस्य स्वर्णिमा सिंह के पास पहुंचकर इंसाफ की गुहार करने लगी, साथ ही जनमंच न्यूज से इस मामले पर प्रकाश डालने के लिए गुहार लगाई।

जनमंच न्यूज ने इस मामले पर प्रकाश डालते हुए स्थानीय संवाददाता से पूरे प्रकरण पर विस्तृत जानकारी निकालने को कहा एवं इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया।

प्रकाशित की गई खबर…

सिर्फ पचास हजार रुपये के लिए विवाहित को घर से निकाला

जिला परिषद सदस्य स्वर्णिमा सिंह ने उसके बेवसी को समझकर उसे ससुराल पहुंचाने का वादा किया, और वे अपने साथ विभूतिपुर के जिला परिषद सदस्य रामदेव राय, सामाजिक कार्यकर्ता कोकाई दास एवं महिला विकास निगम की सदस्य रेणु कुमारी एवं अन्य महिलाओं की टीम के साथ गुड़िया को लेकर उसके ससुराल समस्तीपुर जिला के बिथान प्रखंड के बतरडीहा गांव पहुंची।

स्वर्णिमा सिंह ने वहां के ग्रामीणों एवं पंचायत के मुखिया, उपमुखिया के सहयोग से गुड़िया के पति शंकर साह से बात कर गिला शिकवा दूर करवाकर गुड़िया को उसके पति शंकर साह के हवाले कर ससुराल का सहारा दिलवाई।

वहीं गुड़िया ने जनमंच न्यूज के संवाददाता एवं अपने क्षेत्र के जिला परिषद सहित पूरे ग्रामीणों का शुक्रिया अदा करते हुए बोली आज इन सभी लोगों के वजह से हमें अपना घर और परिवार मिल सका एवं हमारा दाम्पत्य जीवन सुखमय हुआ है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।