supreme court of india

दागी नेताओं को लेकर SC ने सुनाया बड़ा फैसला, चार्जशीट के आधार पर कार्रवाई उचित नहीं

100

नई दिल्ली। एक बड़ी खबर सामने आई है। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को एक बड़ा फैसला सुनाया है। दागी नेताओं के चुनावी भविष्य पर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि चार्जशीट के आधार पर जनप्रतिनिधियों पर कार्रवाई नहीं की जा सकती है। 

इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सिर्फ चार्जशीट के आधार किसी नेता को चुनाव लड़ने से  रोकना काफी नहीं होगा। इस मामले पर पांच जजों की पीठ चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति रोहिंगटन एफ नरीमन, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर, न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति इंदु मल्होत्रा ने अपना फैसला सुनाया।

इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने पिछले हफ्ते अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। जिसके बाद मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने मामले पर अपना फैसला सुनाया है।

बता दें, इस मामले को लेकर 2016 में शीर्ष अदालत ने विचार के लिए संविधान पीठ को भेजा था। वहीं याचिकाकर्ता ने यह गुहार लगाई थी कि जिन लोगों के खिलाफ आरोप तय हो जाए तो उन्हें चुनाव लड़ने से रोका जाए और पांच साल या उससे ज्यादा का सजा का प्रावधान हो।

कोर्ट ने कहा कि जहां तक सवाल सजा का है, या चुनाव लड़ने पर रोक का है, तो कोई भी आदमी तब तक निर्दोष है जब तक कि न्यायालय उसे सजा नहीं दे दता।