दलाल स्ट्रीट पर आया भूकंप, जेटली के बजट के बाद शेयर बाजार पहुँचा पाताल में

Sensex
BSE Slips 1200 points, Nifty down by 350 points...
Share this news...

निवेशकों को लगा बड़ा झटका, हाल में आये बजट और अमेरिकन शेयर मार्केट के गिरावट के चलते हुआ नुकसान…

Shabab Khan
शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

मुंबई: सोमवार को अमेरिकी शेयर बाजार में अब तक का सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली। जिसका सीधा और भारी असर भारतीय बाजार पर पड़ा है। मंगलवार की सुबह Sensex 1200 अंक नीचे खुला। वहीं निफ्टी में शुरूआती कारोबार में करीब 350 अंकों की गिरावट दर्ज हुई।

बता दें कि अमेरिकन शेयर बाजार अपने शीर्ष स्थान से 7% नीचे गिर चुका है। सोमवार को अमेरिकी शेयर बाजार में 2011 के बाद सबसे बड़ी गिरावट 1175.2 अंक लगभग 4.6% की गिरावट के साथ 24,345.75  पर आ गया।

अमेरिका के बाजार में गिरावट का असर सभी बड़े देशों के बाजार पर पड़ा है। जिसमें जापान, आस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया मुख्य रूप से प्रभावित हुए हैं।  भारतीय शेयर बाजार में भी इसका असर पड़ा है। इस गिरावट से निवेशकों को भारी झटका लगा है।

भारत में 1 फरवरी को बजट पेश होने के बाद Sensex में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है।

बता दें कि सोमवार को अमेरिकी शेयर बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गयी। जहाँ सूचकांक डाओ जोंस में करीब 1175 अंक नीचे लुड़कने की खबर आई। जिसके बाद पुरे विश्व के सभी बड़े देशों में इसका असर देखने को मिला। आस्ट्रेलिया में शेयर बाजार 3% तो दक्षिण कोरिया में शेयर 2% नीचे गिरा। वहीं जापान का निक्कई बाजार में 4.6% की गिरावट दर्ज किया।

वैश्विक स्तर पर भारी गिरावट का असर एशियाई बाजार पर भी पड़ा है। भारत में अमेरिकी बाजार में गिरावट आने से डॉलर के सामने रूपये की कीमत में भी गिरावट आई है। इससे पहले 1 डॉलर की कीमत ₹64.05 था, जो कि अब ₹64.35 पर आ गया है।

शेयर बाजार में लगातार आ रही गिरावट से निवेशकों को भारी झटका लगा है। Sensex में आई गिरावट के कारण BSE का मिडकैप इंडेक्स 3.54% टूट गया।

जिसमें वक्रांगी, अडानी ग्रुप, NBCC, टोरेंट पॉवर, रिलायंस, M & M, मुथुट फाइनेंस आदि खास करके जुडी थी।

GMR इंफ़्रा 9.99-4.70% तक टूट चूका है जिससे इन सभी कंपनियों के भारी रकम डूब गयी हैं। सोमवार को निवेश किये कंपनियों के मार्केट कैप 1,47,95,747 करोड़ रुपए था। वही 1200 अंको की गिरावट के बाद मंगलवार को निवेशकों के करीब 4,80,927 करोड़ रुपये डूब गये हैं।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।