पहली बार पुरुषों के खेल में फीफा अंडर -17 के लिए 7 महिला रेफरी को चुना गया

first time female referee in football
Janmanchnews.com
Share this news...
Anil Aryan
अनिल आर्यन

खेल डेस्क। पहली बार ऐसा हुआ है, जब किसी महिला रेफरी को पुरुषों के खेल में नियुक्त किया गया है। भारत में अक्टूबर में होने वाले फीफा अंडर-17 विश्व कप टूर्नामेंट के लिए रेफरियों की नियुक्ति कर दी गई है। फीफा की रेफरी समिति ने शुक्रवार को रेफरियों की 21 तिकड़ियों (एक मुख्य रेफरी और दो लाइंसमैन) की नियुक्ति की पुष्टि कर दी है।

चुने गए रेफरी सभी छह परिसंघों का नेतृत्व भी करेंगे। विश्व फुटबाल की नियामक संस्था-फीफा के लिए यह जरूरी था कि वह इस प्रतियोगिता के लिए विश्व के सर्वोत्तम रेफरियों की नियुक्ति करे और इसका पूरा ध्यान रखा गया है।

Football
Janmanchnews.com

इस प्रतियोगिता के जरिए फीफा रेफरियों को उनकी प्रतिभा दिखाने का मौैका भी मिलेगा, ताकि वह करियर में आगे विकास कर सकें। इसके अलावा, फीफा ने सात समर्थक रेफरियों का चयन भी किया है। हालांकि, इस बार इसमें एक नया मोड़ भी आया है। इस बार प्रतियोगिता में महिला रेफरियों को शामिल किया गया है।

पहली बार सात महिलाओं को निर्णायक की भूमिका में उतारकर फीफा समिति ने ये कहा –

फीफा की रेफरी समिति के प्रमुख मासिमो बॉसाका ने कहा, “हमारा मानना है कि अब समय आ गया है कि महिला रेफरियों को भी फीफा के पुरुष टूर्नामेंटों में शामिल किया जाए। उन्होंने पिछले साल पुरुष रेफरियों के साथ मिलकर काम किया था और अब हम दोनों को प्रतियोगिता में साथ मिलकर काम करते देखना चाहते हैं।

इन सात महिलाओं को बतौर अम्पायर मैदान में उतरा गया है –

ओके ह्यांग (Korea), ग्लेडिस लेंग्वे (Zambia), कैरोल ऐनी चेनार्ड (Canada), क्लॉडिअ अम्पिएर्रेज (Uruguay), एना -मारिए कइले (New Zealand), कटरीना मंजुल (Ukraine), एस्तेर स्टैबलि (Switzerland)

Read this also

जदयू को तोड़ने की हिम्मत किसी में नहीं, दम हैं तो तोड़कर दिखाये: नीतीश कुमार

रूपा फुटबॉल में कुशल भूमिका निभाती है-

अंतरास्ट्रीय फुटबॉल मैच के दौरान कुशल अम्पायर के भूमिका में रूपा देवी ने अपना अहम् भूमिका निभाया है। अपने इसी कुशलता की वजह से उन्हें AFC अंडर -14 फुटबॉल फेस्टिवल दोहा में आयोजित होने वाले खेल की दौरान 2013 अम्पायर की जिमेवारी दी गयी। इसके अलावा फीफा में भी उन्हें यह जिम्मेदारी दी गयी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।