गौतम गंभीर ने लिया “गम्भीर” फैसला, इस शहीद की बेटी की पढ़ाई का खर्च उठायेंगे

Gautam Gambhir
File Photo: Gautam Gambhir
Share this news...
Anil Aryan
अनिल आर्यन

खेल डेस्क। भारतीय क्रिकेट टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रह चुके गौतम गंभीर इससे पहले भी अप्रैल 2017 में सुकमा में शहीद हुए 25 जवानों के परिवारों की मदद करने का ऐलान कर चुके हैं। गंभीर ने इन जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाने की पेशकश की थी।

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा है कि वो कश्मीर में शहीद पुलिस अफसर अब्दुल रशीद की बेटी की पढ़ाई का पूरा खर्चा उठाएंगे।

बता दें कि 28 अगस्त को अनंतनाग में आतंकियों के हमले में शहीद एएसआई रशीद की रोती हुई बेटी जोहरा की तस्वीरों ने पूरे देश को झकझोर दिया था। इसके बाद साउथ कश्मीर के डीआईजी एसपी पाणि ने जोहरा की तस्वीर को शेयर करते हुए इमोशनल मैसेज लिखा, जो बेहद तेजी से वायरल हुआ।

Gautam Gambhir
File Photo: Gautam Gambhir

डीआईजी एसपी पाणि ने लिखा – ‘मेरी प्यारी जोहरा, तुम्हारे आंसू ने लाखों दिलों को झकझोर दिया है।…अभी तुम ये समझने के लिए बहुत छोटी हो कि ऐसा क्यों हुआ…तुम्हारे पिता हम सब की ही तरह जम्मू कश्मीर पुलिस फोर्स का चेहरा थे जो कि हमेशा वीरता और बलिदान का उदाहरण रही है।’

जोहरा की रोती हुई तस्वीर गौतम गंभीर तक भी पहुंची और उन्होंने इसे रीट्वीट करते हुए लिखा- ‘जोहरा, मैं तुम्हें लोरी गाकर नहीं सुला सकता। हां, मैं तुम्हारे सपनों को जरूर साकार करने में मदद करना चाहूंगा। तुम्हारी आजीवन पढ़ाई को लेकर सपोर्ट करूंगा।’


गौतम गंभीर इससे पहले भी अप्रैल 2017 में सुकमा में शहीद हुए 25 जवानों के परिवारों की मदद करने का ऐलान कर चुके हैं। गंभीर ने इन जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाने की पेशकश की थी। उन्होंने एक अखबार के कॉलम में लिखकर कहा है कि वे सुकमा में शहीद हुए 25 CRPF जवानों के बच्चों की जिम्मेदारी अपने कंधों पर लेने को तैयार हैं।

Read this also…

अवैध ढाबा संचालक, चालक और परिचालक की साठ गांठ से चल रहा बड़ा गोरख धंधा 

उस दौरान गंभीर ने कहा था कि अखबार में उन्होंने दो तस्वीरें देखी जिनमें एक तस्वीर में एक बच्ची अपने शहीद पिता को सलामी दे रही थी तो दूसरी तस्वीर में शहीद की पत्नी को उसके रिश्तेदार संभालते हुए नजर आ रहे थे।

इन दो तस्वीरों को देखकर वह काफी परेशान हुए और उन्होंने सभी जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाने का ऐलान कर दिया। गौतम गंभीर ने समाज के लिए अच्छा फैसला लिया है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।