hindu shiv putra

सुप्रीम कोर्ट खतरे में या हिन्दुत्व खतरे में…राम मंदिर के समर्थन में निकली विशाल रैली

72

अमानत अंसारी की रिपोर्ट,

पटना। शनिवार को राज्य के राजधानी पटना में जगदेव पथ से लेकर पटना हनुमान मंदिर तक राम मंदिर के समर्थन में रैली निकाली गई। रामभक्तों का कहना है कि भारत में हिंदुत्व खतरे में है और हम हिंदू एक होकर अयोध्या में राम मंदिर बनाएंगे और देश में हिंदुत्व के अस्तित्व को बचाएंगे।

ज्यादातर भक्तों का मानना था कि भाजपा सरकार ने उनको ठगा है और इस बार लोकसभा चुनाव में जो पार्टी मंदिर बनाएगी वोट उसी को देंगे। इस दौरान समर्थकों के मन में सुप्रीम कोर्ट के अस्तित्व को लेकर भी सवाल उठाए गए। भक्तों का कहना था कि हमें सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा नहीं है।

भारत में सुप्रीम कोर्ट बड़ा नहीं हम लोग मिलकर राम मंदिर बनाएंगे। इन्हें देखकर कहीं नहीं लग रहा था कि देश हिंदुत्व खतरे में नहीं हैं ऐसे लगा रहा था कि सुप्रीम कोर्ट खतरे में है।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी लोगों ने अपनी राय रखी, उन्होंने कहा कि मोदी ने देश के हिन्दू को सिर्फ ठगा है। मोदी ने राम मंदिर भी नहीं बनाया, कश्मीर से 370 भी नहीं हटाया और न ही जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कोई कानून अभी तक बना जबकि बीजेपी ये वादे कर के सत्ता में आई थी।

कुल मिलाकर देश की जनता के बीच खासकर हिन्दू संगठनों के बीच वर्तमान सरकार की लोकप्रियता घटी है। वहीं लोकतंत्र पर कुछ संगठनों का दबाव बढ़ा है। भारत ऐसे लोकतांत्रिक देश में यदि कोई यह कह देता है कि हमें सुप्रीम कोर्ट भरोसा नहीं है तो यह निश्चित रूप चिंतित करने वाली बात है।

Hindu Putra

Janmanchnews.com

आज लोग खुले तौर पर सुप्रीम कोर्ट के आगे खड़े हो जाते हैं और यह हिम्मत कहीं न कहीं राजनीतिक पार्टी की ओर से ही मिली है। राजनीतिक पार्टी यदि समय रहते इन लोगों पर लगाम लगाई होती तो यह दिन देखना नहीं पड़ता।

अगर सुप्रीम कोर्ट पर कोई सवाल खड़ा होता है तो इसके लिए जिम्मेदार सिर्फ राजनीतिक पार्टी है और कोई नहीं। क्योंकि यही पार्टी जब चाहे तब असंवैधानिक लोगों के समर्थन नजर आती है।

देखिए Exclusive विडियो…