teachers Association Meeting

नागौर में उमड़ा प्रदेश भर के शिक्षकों का सैलाब

153
Omprakash Varma

ओमप्रकाश वर्मा

धौलपुर। राजस्थान शिक्षक संघ शेखावत का दो दिवसीय 57 वां प्रांतीय शैक्षिक सम्मेलन संगठन के ध्वजारोहण के साथ रा.उ.मा.वि. कांकरिया, नागौर में प्रदेश अध्यक्ष महावीर सिहाग की अध्यक्षता में प्रारंभ हुआ।

प्रदेश संघर्ष समिति संयोजक यादवेंद्र शर्मा ने बताया कि सम्मेलन में प्रदेश भर से उमड़े हजारों शिक्षकों के सैलाब ने यह प्रमाणित कर दिया कि शिक्षकों के मुद्दोंको लेकर सरकारों से संघर्ष करने वाला प्रदेश में अगुवा एवं सबसे मजबूत संगठन यही है।

कार्यकारी जिलाध्यक्ष विशाल गिरि एवं जिला मंत्री अविनाश अग्रवाल ने बताया कि सम्मेलन में मुख्य वक्ता स्कूल टीचर्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की राष्ट्रीय परिषद के सदस्य एवं हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष वजीर सिंह थे। सम्मेलन के विशिष्ट वक्ता जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय दिल्ली के प्रोफेसर आलोक श्रीवास्तव, केन्द्रीय विश्वविद्यालय अजमेर के प्रोफेसर रामलखन मीणा थे।

सम्मेलन में बलवान पूनिया विधायक भादरा, चेतन डूडी विधायक डीडवाना, मुकेश भाकर विधायक लाडनू, विजय पूनिया किसान नेता अतिथिगण थे। प्रदेश अध्यक्ष महावीर सिहाग ने स्वागत भाषण में आगन्तुक सभी अतिथियों एवं शिक्षकों का स्वागत किया।

सम्मेलन में मुख्य वक्ता वजीर सिंह ने शिक्षा और अर्थव्यवस्था, वर्तमान में चुनौतियों पर विस्तार से विचार व्यक्त किया। विशिष्ट वक्ता आलोक श्रीवास्तव एवं रामलखन मीणा ने शिक्षा एवं शिक्षकों के प्रति राज्य व केन्द्र सरकार के रवैये पर विस्तार से चर्चा की।

इससे पूर्व संगठन के प्रदेश महामंत्री उपेन्द्र शर्मा ने संगठन का प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए शिक्षकों की वाजिब मांगों एवं शिक्षक समस्याओं को विस्तार से उठाया।

सम्मेलन में विधायक बलवान पूनिया, विधायक मुकेश भाकर एवं चेतनराम डूडी ने शिक्षक समस्याओं को सरकार के समक्ष रखकर उनका समाधान कराये जाने का आश्वासन दिया। सम्मेलन में प्रदेश भर से हजारों की तादात में आये अपार शिक्षक समूह शामिल हुआ।