Letter PMO

अखबार रिपोर्ट का बड़ा दावा, रक्षा सचिव ने राफेल के पैरलल सौदेबाजी पर किया था विरोध

266

नई दिल्ली। चर्चित राफेल मुद्दा एक बार फिर सुर्खियों में आ चुकी है। अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ ने राफेल डील को लेकर एक बड़े खुलासे का दावा किया है। जिसके बाद अब विपक्ष मोदी सरकार पर एक बार फिर हमला बोल रही है।

दरअसल, अंग्रेजी अखबार ‘द हिंदू’ ने एक आधिकारिक नोट का हवाला देते हुए दावा किया है कि रक्षा सचिव ने पैरलल सौदेबाजी का विरोध करते हुए सवाल उठाया था कि पीएमओ को इसमें शामिल होने की क्या जरूरत है?

आपको बताते चले कि रिपोर्ट के अनुसार इस कहा गया कि इस तरह से PMO द्वारा किए गए पैरलल बातचीत के कारण सौदे के दौरान रक्षा मंत्रालय की पोजीशन थोड़ी कमजोर हो गई। रक्षा मंत्रालय ने कहा था कि हम पीएमओ को सलाह दे सकते हैं कि जो अधिकारी बातचीत करने वाली टीम में शामिल नहीं है, वे लोग पैरलल तरीके से फ्रांस की सरकार से बातचीत करने से दूर रहें।

वहीं उस दौरान रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर थे। इसके आलावा इस रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि अगर PMO को लगता है कि रक्षा मंत्रालय की बातचीत से सहमती नहीं बनती, तो वो अगले स्तर पर दोबारा बात कर सकते है।

इसी रिपोर्ट पर अब कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने मोदी सरकार को फिर से घेरा है। इस रिपोर्ट के बाद संसद में काफी हंगामा हुआ। जिसके बाद रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन ने पलटवार करते हुए अख़बार के रिपोर्टिंग को भेदभावपूर्ण बताया।