बिहार के व्यवसायी से कोडरमा घाटी में लुटेरे ने गाड़ी रोककर नगदी और 4.5 किलो सोना लूटा

loot
Janmanchnews.com
Share this news...
Pankaj Pandey
पंकज पाण्डेय

पटना। बिहार के एक स्वर्ण व्यवसायी को कोडरमा में लुटेरों ने कार समेत अगवा कर के उनके पास से 1.32 करोड़ नकद व 4.5 किलो सोना लूट लिया।झारखंड के कोडरमा थानांतर्गत एनएच 31 पर शनिवार को घटी इस घटना के बाद व्यवसायी सात किलोमीटर चलकर एक मंदिर में शरण लेकर अपनी जान बचाई।घटना के दो दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस सिर्फ हाथ-पांव ही मार रही है।

मिली जानकारी के अनुसार पटना के फुलवारीशरीफ पेठिया बाजार निवासी व्यवसायी राजेश कुमार जायसवाल अपनी सफेद क्रेटा कार शनिवार को शाम के 4.30 बजे पटना से कोयंबटूर (तमिलनाड) के लिए निकले।लंबी दूरी होने के कारण बीच में उन्होंने बिहारशरीफ में गाड़ी रोककर एक दूसरे चालक को भी वाहन में बिठा लिया। उनकी गाड़ी जब रात करीब 9.30 बजे कोडरमा थाना से करीब चार किलोमीटर पहले कोडरमा घाटी में चढ़ाव पर थी तभी एक सफेद रंग की बोलेरो ने उनकी गाड़ी को हल्की टक्कर मार दी।

इसके बाद गाड़ी धीमी होने पर बोलेरो से चार अपराधी उतरे और उनके वाहन का गेट पीटकर गेट खुलवाया। इसके बाद तीन अपराधी उनकी क्रेटा गाड़ी में सवार हो गए और एक चालक को गाड़ी से बाहर निकालकर बोलेरो में बिठा लिया।

अपराधी चाकू व पिस्तौल की नोक पर वाहन को वापस पटना की ओर ले जाने लगे। कुछ दूर ले जाकर लुटेरों ने दूसरे चालक को भी वाहन से उतार दिया। फिर करीब 700 मीटर आगे ले जाकर व्यवसायी राजेश कुमार को भी घाटी में सड़क पर उतार दिया। इस दौरान दोनों के पास से मोबाइल आदि भी छीन लिए। एक चालक व गाड़ी को लेकर लुटेरे वाहन को पटना की ओर चले गए।

लुटेरों द्वारा बीच सड़क पर उतारे जाने के बाद व्यवसायी राजेश कुमार सुनसान घाटी में करीब सात किलोमीटर पैदल चलते हुए लटबहिया मंदिर में सुबह तक रुके। यहां मंदिर के बाबा को उन्होंने घटना की जानकारी दी। फिर सुबह होने पर वहां से एक बस में सवार होकर रजौली थाना गए। रजौली पुलिस राजेश को लेकर कोडरमा घाटी गई, लेकिन घटना स्थल कोडरमा थाना के अधीन होने के कारण उन्हें एक ट्रक में बिठाकर कोडरमा थाना भेज दिया।

कोडरमा थाना प्रभारी आनंद मोहन सिंह ने बताया कि व्‍यवसायी ने सुबह करीब नौ बजे उन्हें घटना की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस टीम राजेश को लेकर कोडरमा घाटी पहुंची और स्थल का निरीक्षण किया। साथ ही लटबहिया मंदिर में जाकर वहां के बाबा से भी पूछताछ की। पूछताछ में मंदिर के बाबा ने रात में राजेश के आने की पुष्टि की।

पुलिस को अबतक घाटी में उतारे गए चालक व अपराधियों द्वारा साथ ले गए दूसरे चालक के संबंध में अबतक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। कोडरमा पुलिस मामले की पड़ताल में जुट गई है। कोडरमा की एसपी शिवानी तिवारी ने बताया कि इस बात की तफ्तीश भी की जा रही है कि व्यवसायी के पास इतना नगद और सोना कहां से आया।

वहीं राजेश जायसवाल ने कहा कि वह पटना क्षेत्र में सोना के कारोबार में बिचौलिया का काम करते हैं। पटना के व्यापारियों से नकद राशि व सोना आदि लेकर कोयंबटूर में तैयार गहना लेकर पटना आते हैं।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।