सरकार के दावों के उलट आज भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित है यह गांव

photo
janmanchnews.com
Share this news...

आशीष सिंह चौहान की रिपोर्ट-

उन्नाव/बीघापुर। ब्लाक के अंतर्गत ग्राम रतुई खेडा के बाशिंदे सरकार के दावों के उलट अभी तक मूलभूत सुविधाए सड़क, शौचालय, सरकारी आवास, राशन कार्ड, आदि से वंचित है। ग्राम वासियों द्वारा खण्ड विकास अधिकारी बीघापुर व जिलाधिकारी को शिकायत पत्र देकर गांव के अंदर टूटी सड़कों व उनमें बहता नालियों का गंदा पानी जो आवागमन को बाधित कर रहा है, समस्या के बहालीकरण की मांग की है।

गांव में फैली गंदगी संक्रामक बीमारियों को दावत दे रही है। गांव में नियुक्त सफाई कर्मचारी पुरेसाल में सिर्फ एक दो बार ही गांव में दिखाई देते है और वो भी नालियों का कचरा निकल कर उसी के ऊपर रख देता है, जो उसी में फिर गिर जाता है गांव में गंदगी का अंबार लगा है।

पूरे गांव में एक भी शौचालय नही होने से लोग सौचक्रिया के लिए बाहर जाते है, पोरे गांव में किसी भी व्यक्ति का राशन कार्ड नही बना है। जिससे उनको न तो राशन न ही तेल मिलता है बारा से गांव को जोड़ने वाली सड़क पर दबंगो द्वारा खूंटे गाड़ कर उस पर अपने जानवर बंदन से सड़क तो कट ही रही है साथ ही ग्रामीणों का कस्बे से जोड़ने वाला एक मात्र मार्ग से भी आने जाने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है।

ग्राम पंचायत सदस्य सविता देवी, राजकुमार व जागेश्वर, रज्जनलाल, रामसुमेर, शिव कुमार, बिंद प्रसाद, पवन कुमार, अजय कुमार, सुरेश कुमार, कन्हैया लाल, जयहिंद सिंह रामगोपाल, आदि लगभग 2 दर्जन ग्रामीणों ने ब्लाक मुख्यालय पहुचकर खंड विकास अधिकारी, जिलाधिकारी व क्षेत्रीय विधायक से गांव से कुतुबुद्दीन गढ़ेवा को जोड़ने वाले मार्ग को डामरीकृत कराने व सरकार की अन्य सुविधाओं को ग्रामीणों तक पहुचाने की मांग की है। जिससे ग्रामीणों को गढ़ेवा होते हुए टेढ़ा पहुंचने में आसानी हो सके।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।