दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार का हुआ शुभारंभ

international seminar
Janmanchnews.com
Share this news...
Nisar Ahmad
निसार अहमद

मिर्जापुर। लालता सिंह राजकीय महिला पी. जी. कालेज अदलहाट में शनिवार को दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार का शुभारंभ हुआ। उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए श्रीलंका से आए शिक्षाविद डा० सुमेधा थेरो ने कहा कि भारत की उच्च शिक्षा अत्यन्त प्राचीन है। दुनिया मे सबसे प्राचीन विश्वविद्यालय और विश्व शिक्षक भारत मे पैदा हुए।

महात्मा बुद्ध ने 2500 वर्ष पूर्व अंतरराष्ट्रीय शिक्षक की भूमिका निभाई थी। उनके विचार आज भी अंतरराष्ट्रीय मानक पर समीचीन है। भारतीय उच्च शिक्षा आज पश्चमी देशो के विश्वविद्यालयों की चुनौतियों से रूबरू हैं । अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार विश्व ज्ञान को प्रचारित करने के अवसर उपलब्ध कराते हैं।

विशिष्ठ अतिथि प्रो. ऐ. के. दीपायन ने स्थानीय भाषा में शोध और तकनीकी विकास पर बल दिया। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में उच्च स्थान रखने वाले सभी देश अंग्रेजी का प्रयोग नही करते इसलिए हमें भी अपनी भाषा का प्रयोग समुचित अधिकार और सम्मान से करना चाहिए।

प्रो. इंद्रा विश्नोई ने अपने विशिष्ठ उद्बोधन में कहा कि उच्च शिक्षा का परिदृश्य अब अधिक चुनौतीपूर्ण है। अधिक नामांकन की सरकारी कोशिशों ने गुणवक्ता को प्रभावित किया है। अधिगम और शिक्षण के स्तर पर अनेक चुनौतिया उत्पन्न हो गयी है, जिनका शीघ्र समाधान अपेक्षित हैं। विशिष्ठ अतिथि के रूप में पुलिस अधीक्षक मिर्जापुर शालिनी ने अपने छात्र एवं शिक्षक जीवन का उदाहरण देते हुए शिक्षा के महत्व एवं प्रविधि पर प्रकाश डाला।

internation al seminar..
Janmanchnews.com

प्रो. एच. एन. प्रसाद ने भी अपनी गरिमामय उपस्थिति से कार्यक्रम को अनुग्रहित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के पूर्व कुलपति प्रो. पृथ्वीश नाग ने की। अपने उद्बोधन में प्रो.नाग नाथ ने महिला शिक्षा के महत्व पर प्रकाश डाला।

सेमिनार की प्रस्तावना आयोजन सचिव डा० राजकुमार सिंह ने प्रभावी रूप से प्रस्तुत की।अतिथियों का स्वागत प्राचार्य डा० टी. डी. सिंह एवं कार्यक्रम संयोजिका डा० अंजू सोनकर ने किया।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में दीप प्रज्जवलन मुख्य अतिथि द्वारा किया गया। छात्राओं ने स्वागत गीत एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया। इस अवसर पर क्षेत्र के महाविद्यालय प्रबंधक, राजकीय महाविद्यालय के पूर्व एवं वर्तमान प्राचार्य को सम्मानित किया गया।

विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाले प्राध्यापको एवं शोधार्थियों को सह आयोजक संगठन काव प्रकाशन एवं रिसर्च फाउंडेशन ऑफ इंडिया की ओर से प्रमाण पत्र दे कर सम्मानित किया गया।

समारोह का संचालन डा० गीता रानी शर्मा ने किया। धन्यवाद ज्ञापन डा० नीलम टंडन द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो. पृथ्वीश नाग, पूर्व कुलपति, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी ने किया।

मुख्य अतिथि डा० कहवटे सिरी सुमेधा थेरो, फाउंडर प्रेजिडेंट, इंडो श्रीलंका इंटरनेशनल बुद्धिस्ट एसोसिएशन, श्रीलंका रहे।

विशिष्ठ अतिथि प्रो इंदिरा विश्नोई , गृह विज्ञान विभाग , काशी हिन्दू विश्विद्यालय , वाराणसी । एवं संरक्षक डा० टी. डी. सिंह, प्राचार्य लालतासिंह राजकीय महिला महाविद्यालय अदलहाट मौजूद थे।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।