दो पत्रकारों पर जानलेवा हमला, हमलावर पुलिस की गिरफ्त से बाहर

Journalist
Janmanchnews.com
Share this news...
Sarvesh Tyagi
सर्वेश त्यागी

धार डेस्क। भारतीय जगत में पत्रकारों को समाज के चौथे स्तंभ का दर्जा दिया गया है। मगर समाज का यह चौथा स्तंभ आपराधिक गुंडों के आगे असुरक्षित नजर आता दिखाई दे रहा है। आए दिन अपराधी गुंडों के द्वारा षड्यंत्र कर पत्रकारों को जान से मारने की साजिस की जाती है। और यही अपराधिक गुंडे षडयंत्र कर पत्रकारों को मौत के घाट उतार देते हैं।

सरदारपुर तहसील के दो इलेक्ट्रॉनिक मीडिया चैनल तहसील ब्यूरो पर 4 आपराधिक गुंडों ने अपनी वाइट कलर की आल्टो कार जिसका नंबर एमपी 09 सीएन 5795 से दोनों बाइक सवार पत्रकारों को जोरदार टक्कर मार दी।

बाइक मुकेश सोलंकी की थी। बाइक रेड कलर की Platina 125cc जिसका नंबर एमपी 11 एम एच 5874 दोनों ही पत्रकार इसी बाइक पर सवार होकर पसावदा से सरदारपुर की और आ रहे थें। तभी इन आप्रथिक बदमाशों ने चलती हुई बाइक पर पीछे से जोर दार टक्कर मारी। टक्कर लगने के बाद दोनों पत्रकार रोड पर गिर गए। गिरने के बाद अपराधियों ने उनकी आल्टो कार से पत्रकारों को गाड़ी के नीचे कुचलने का प्रयास किया। पुलिस ने अपराधियों के खिलाफ धारा 307, 323, 334, 335 का प्रकरण दर्ज किया और आरोपी की तलाश में जुट गई।

7 मार्च को शाम 5 बजे बाद मुकेश सोलंकी एस आर मध्य प्रदेश न्यूज़ चैनल तहसील ब्यूरो सरदारपुर और वसीम सिद्दीकी ind 24 तहसिल ब्यूरो सरदारपुर दोनों ही राजगढ़ से ग्राम नरसिंग देवला में अति प्राचीन नरसिंग मन्दिर के दर्शन कर बदनावर, सरदरपुर 2लेंन रोड पर ग्राम पसावदा से सरदारपुर, राजगढ़ की ओर लौट रहे थें।

तभी रास्ते में अचानक बबलू उर्फ अब्दुल रहीम निवासी देपालपुर ने अपने भाई और दो अन्य साथियों के साथ मिलकर बबलू की वाइट अल्टो कार से पत्रकारों की चलती बाइक रेड कलर की Platina 125cc गाड़ी नंबर एमपी 11 एम एच 5874 को पीछे से जोरदार टक्कर मार दी टक्कर लगने के बाद दोनों पत्रकार रोड पर तकरीबन 15 से 20 फीट तक घिसटते हुए चले गए और फिर भी इन अपराधियों के हौसले इतने बुलंद थे कि उन्होंने जमीन पर गिरे पत्रकारों पर इन बदमाशो ने अपनी अल्टो कार को तेज गति से लाकर पत्रकारों को कुचलने का प्रयास किया। तेज गति में अल्टो कार को आते देख वसीम सिद्दीकी ड्राइवर साइट रोड पर लूडक गया और मुकेश सोलंकी कंडक्टर साइट रोड से नीचे कूद गया टक्कर बहुत ही तेज थी। जिससे यह स्पष्ट होता है कि दोनों पत्रकारों को जान से मारने के इरादे से टक्कर मारी गई है।

टक्कर के बाद प्लेटिना बाइक 100 फीट घिसटते हुई खेत में जाकर गिरी और फिर भी ये बदमाश अपनी आल्टो कार को तकरीबन 10 से 12 मिटर की दुरी से पलटाकर आये और गाड़ी से उतरकर लाटी और डंडे ले कर वसीम सिद्दीकी की भागे तभी वसीम सिद्दीकी ने मुकेश सोलंकी को कहा कि मुकेश भाई भागो और 100 डायल को फोन लगाओ और पुलिस को बुलाओ यह लोग मुझे मार डालेंगे तब तक मुकेश सोलंकी के देखते ही देखते इन लोगों ने वसीम पर लाठी और डंडों से हमला कर दिया। तभी इतनी देर में एक अनजान टू व्हीलर वाहन मालिक को मुकेश सोलंकी ने रुकवाया और पुलिस थाने की ओर जाने लगे रास्ते में 100 डायल को फोन लगाकर मौके की सारी जानकारी मुकेश सोलंकी ने दी

सरदारपुर थाने पहुंचकर पुलिस को सारे मामले से अवगत करवाया। मौके की जानकारी मिलने के बाद सरदारपुर थाना प्रभारी रमेश चंद्र आवासिया व दिनेश पटेल अपने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचें। तब तक 100 डायल भी मौके पर पहुंच चुकी थी।

पुलिस मौके पर पहुंचने से पहले अपराधी अपराध को अंजाम देकर उनकी वाइट कलर के अल्टो कार से भाग चुके थें। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उपचार के लिए भेजा। जहां घायलों का उपचार डॉ. एम एल जैन द्वारा किया गया और घायलों को हॉस्पिटल में भर्ती किया गया।

घायलों में वसीम सिद्दीकी की हालत नाजुक देखते हुए वसीम सिद्दीकी को धार रेफर किया गया। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने मौके पर हुए घटनाक्रम का निरीक्षण किया और अपराधियों बबलू उर्फ अब्दुल रहिम और उसके छोटे भाई और दो अन्य लोगों के खिलाफ धारा 307 323 334 335 का प्रकरण दर्ज किया गया अपराधियों की तलाश जारी है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।