31 दिसंबर तक नोएडा में अपने अपार्टमेंट पर कब्जा हासिल कर लेगें 40,000 खरीदार: मुख्यमंत्री यूपी

CM Yogi
File Photo: CM Yogi
Share this news...

25 दिसम्बर को पीएम मोदी की प्रस्तावित नोएडा यात्रा की तैयारियों का जायजा लेने पहुँचें थे योगी…

Shabab Khan
शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)
नोएडा: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के 40,000 घर खरीदारों को इस महीने के अंत तक अपने अपार्टमेंट का कब्जा मिल जाएगा।

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रस्तावित नोएडा यात्रा के लिए सुरक्षा और अन्य व्यवस्था की समीक्षा करने के बाद यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि खरीदार-बिल्डर विवाद, किसान-प्राधिकारी विवाद और ग्राम पंचायत-प्राधिकारी विवाद हैं जिन्हें हल करने की जरूरत है। इससे पहले, आदित्यनाथ ने खरीदारों और बिल्डर लॉबी से मुलाकात की और उनकी शिकायतों पर विचार किया। योगी के साथ केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा और राज्यमंत्री सतीश महाना भी मौजूद रहे।

नोएडा के बिल्डरों की ऑडिटिंग चल रही है, योगी नें नोएडा प्रशासन से बिल्डरों को हो रही दिक्कतों को समझकर उसका हल निकालने का निर्देश दिया। फ्लैट खरीदारों को अपने फ्लैट पर कब्जा मिलने में हो रही देरी को ध्यान नें रखते हुए मुख्यमंत्री नें उन प्रोजेक्टस् में सह-बिल्डरों से सहयोग दिलाने की बात कहीं जो फंडिंग या किसी कारणवंश बंद पड़े हैं। ताकि निर्माण कार्य शुरु कराया जा सके और खरीदारों को उनके घर मिल सकें।

आदित्यनाथ ने कहा, “नोएडा और ग्रेटर नोएडा उत्तर प्रदेश की खिड़की हैं, लेकिन पिछली भ्रष्ट सरकारों की वजह से नोएडा, ग्रेटर नोएडा और पूरे राज्य में विकास प्रभावित हुआ है।”

नोएडा और ग्रेटर नोएडा के मुद्दों को हल करने के लिए मंत्रियों के एक समूह का गठन किया गया है। उन्होंने लगातार मुद्दों पर निगरानी रखी हुई है तथा हितधारकों और अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उनकी सरकार विकास की गति बढ़ाने के प्रयास कर रही है और लोग जल्द ही सकारात्मक बदलाव देखेंगे।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 25 दिसंबर को होने वाले कार्यक्रम की तैयारियों का जायजा लेने नोएडा पहुँचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कई जगहों पर अव्यवस्थाएं देखने को मिलीं। आलम यह था कि डीएम-एसएसपी तक की नेताओं से नोकझोंक हुई और विरोध में नेताओं ने पुलिस-प्रशासन के विरोध में नारे भी लगाए।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।