फीकी रहेगी जिले में शिक्षकों की होली

Janmanchnews
Janmanchnews.com
Share this news...
Robbin Kapoor
रॉबिन कपूर

फर्रुखाबाद: होली के त्यौहार पर जनपद के परिषदीय विद्यालयों के शिक्षकों के वेतन भुगतान न हो पाने से इस बार होली की गुजिया की मिठास फीकी हो गयी है। हालांकि वेतन न मिलने से शिक्षक संगठन आक्रोषित हैं और आंदोलन का मूड़ बना रहे हैं।

जिले के परिषदीय विद्यालयों के साथ-साथ सहायता प्राप्त विद्यालयों के शिक्षकों को फरवरी माह का वेतन होली से पूर्व ही दिये जाने की घोषणा विभाग ने लिखित रूप से की थी। इसके बाद भी अभी तक वेतन वितरण न हो पाने से जिले के शिक्षक आक्रोषित हैं। विभाग का कहना है कि अभी ग्रांट ही नहीं आयी। लेकिन शिक्षक संगठनों ने शासन से लेकर सरकार को कोसना शुरू कर दिया है।

शैक्षिक महासंघ के जिलाध्यक्ष संजय तिवारी का कहना है कि अध्यापकों को तो छोड़ो एक हजार मानदेय पर काम करने वाले रसोइयों तक को धनराशि उपलब्ध नहीं करायी गयी। शासन व सरकार शिक्षकों का आर्थिक उत्पीड़न कर रही है। उनका कहना है कि बीते दिनों कोषाधिकारी, लेखाधिकारी व शिक्षक नेताओं के बीच बैठ कर वार्ता हुई थी।

जिसमें कहा गया था कि फरवरी माह का वेतन सातवें वेतन आयोग के आधार पर होली से पहले दिया जायेगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। शासन व सरकार नहीं सुधरे तो संगठन आंदोलन की रूप रेखा तैयार करेंगे।

प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष भूपेश पाठक का कहना है कि बीते दो दिन पूर्व ही उन्होंने लेखाधिकारी से भेंट की थी। अभी सरकार की तरफ से  ग्रांट नहीं आयी है। जिससे वेतन वितरण नहीं हो पा रहा है। जल्द शिक्षकों के वेतन से खिलवाड़ बंद नहीं हुआ तो सरकार के खिलाफ संगठन आंदोलन के लिए बाध्य होगा।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।