बड़े अधिकारियों के सरंक्षण के कारण नहीं आते डॉक्टर

doctor
Janmanchnews.com
Share this news...
Rahul Yadav
राहुल यादव

रायबरेलीः देहात क्षेत्रों में चल रहे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो में सरकार द्वारा भले ही सारी सुविधायें होने की बात की जा रही हो लेकिन देहातों में बिल्डिंगे तो बना दी गयी है बिल्डिगों में न तो डॉक्टर है और न ही मरीजों के लिए दवायें उपलब्ध है। जिसका खामियाजा देहात क्षेत्र के लाखों की आबादी वाले गांवों को झेलना पड़ रहा है। छोटी-मोटी बीमारी पर भी या तो झोला झाप या रायबरेली जाना पड़ता है।

आखिरकार स्वास्थ्य केन्द्र पर तैनात डॉक्टर क्यों नहीं आते हैं। यह अपने आप पर बड़ा सवाल है। प्राप्त जानकारी के अनुसार डीह क्षेत्र के बेतौरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में सिर्फ फार्माशिष्ट ही आते है। और उन्हीं की बदौलत किसी तरह से स्वास्थ्य केन्द्र चल रहा है। फार्मासिस्ट की माने तो स्वास्थ्य केन्द्र बेतौरा में एक डॉक्टर, एक फार्माशिष्ट व एक वार्डबॉय की तैनात है।

वहीं क्षेत्र के मरीजों ने बताया कि अस्पताल में डॉक्टर साहब कभी नहीं आते है। और न ही अस्पताल में दवायें उपलब्ध है। हम लोगों को काफी परेषानी का सामना करना पड़ता है। क्षेत्रीय लोगों में जनपद के जिलाधिकारी से मांग की है कि बेतौरा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में जो डॉक्टर तैनात है या तो वो आये या नयें डॉक्टर की तैनाती की जाये। जिससे सरकारी अस्पताल का लाभ हम मरीजों को मिल सके।

सायरा बेगम, नसीमा, हसीना, कैसर जहाँ, शकीला बानो निवासी बेतौरा, अशोक कुमार निवासी दरियाव गंज, राम प्रताप निवासी पुरे दिनाउ ने कहा कि पीएचसी पर वर्षो से एक फार्माशिष्ट आते है वह भी उनका कोई समय निर्धारित नहीं है जब आते है तो वहीं मरीज देखते है और दवा भी देते है यहाँ कोई डॉक्टर नहीं आते यहाँ मरीजों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।