private part cut down

चोटी कटवा के बाद अब पुरुषों में लिंग कटने की भय हो रहा व्याप्त!

188

चोटी क्यों कट रही है यह बात अभी सामने आनी बाकि ही थी, कि अब लिंग कटने की घटना बुद्ध की धरती श्रावस्ती से सामने आई है…

Mithiliesh Pathak

मिथिलेश पाठक

श्रावस्ती। हमारे देश भारत में अंधविश्वास एक व्यापक सामाजिक समस्या मानी जाती है। लोगों का कहना है कि अंधविश्वासों का कारण शिक्षा की कमी है। लेकिन भारत में शिक्षित लोगों को भी अंधविश्वासी माना जा सकता है।

अंधविश्वासों के विश्वासों और प्रथाओं के कई प्रकार है और भारत के अनेक क्षेत्रों में अपने अलग-अलग अंधविश्वास प्रचलित है। जिसका नतीजा है कि आये दिन कोई न कोई नया शिगूफा छोड़कर लोगों को अंधविश्वास की कसौटी पर कसा जा रहा है। जिसके जीवंत उदाहरण आये दिन देखने को मिलते रहते हैं।

देश के अलग-अलग हिस्सों में बीते एक माह से चोटी कटने की बातें सामने आ रही थी। हालांकि चोटी क्यों कट रही है यह बात अभी सामने आनी बाकि ही थी, कि अब लिंग कटने की घटना बुद्ध की धरती श्रावस्ती से सामने आई है।

private part cut down

Janmanchnews.com

अब हम इसे अफवाह भी नही कह सकतें क्योंकि बीते 5 दिनों में 3 लोग इसके शिकार हो चुकें हैं। जिनका कहीं न कहीं इलाज चल रहा है।

लिंग कटने की पहली घटना 5 दिन पूर्व 2 सितंबर की है। भिनगा कोतवाली क्षेत्र के शिवबालक पुरवा में 2 वर्षीय मासूम का लिंग 70 प्रतिशत कट गया। जिसका इलाज ट्रामा सेंटर लखनऊ में जारी है। वहीं एक दिन बाद 3 सितंबर को एक 11 वर्षीय किशोर का लिंग करीब 40 प्रतिशत कटा।

एक के बाद दो घटनाओं से लोग सकते में आ गये। चोटी कटवा की तरह जगह-जगह लिंग कटवा की चर्चा होने लगी। दो दिन बाद 5 सितंबर को देर शाम भिनगा कोतवाली के सदर बाजार के मोहल्ला हनुमान गढ़ी निवासी पुत्तन तिवारी का लिंग कटकर नीचे गिर गया। यह खबर समूचे शहर में आग की लपटों की भांति फैली। पीड़ित को जिला अस्पताल भिनगा से ट्रामा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया है।

Read this also…

बिहार का चर्चित नवरूणा हत्याकांड के आरोपी को सीबीआई ने किया गिरफ्तार

एक के बाद एक ताबड़तोड़ 3 घटनाएँ होने से लोग सकते में हैं। प्रत्यक्ष रूप से हो रही घटनाओं से एक ओर जहां लोग भयभीत हैं। वहीं यें घटनाएं कई सवालों को भी जन्म दे रही है। पहले महिलाओं की चोटी कटना और अब मर्दों का लिंग कटना दोनों रहस्य बने हुए हैं। लेकिन इन रहस्यों से अगर जल्द पर्दा न उठा तो आने वाले समय और भी भयानक होंगे। फ़िलहाल इन घटनाओं से लोग डरे और सहमे हुए हैं।

चोटी कटवा में मैकी नामक कीड़े का नाम सामने आया था, जिस पर लोगों को पूरी तरह विश्वास नही हो रहा है। अब यह दूसरा मामला सामने आ गया है, क्या इसका सही कारण लोगों के सामने आ सकेगा यह आने वाला वक़्त ही बताएगा।