यूपी के प्राथमिक विद्यालय में नाचीं बार बालाएं, खुली दारू की बोतले, उड़ाई गई नोट

bar girls
Janmanchnews.com
Share this news...

ग्राम प्रधान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज, विद्यालय के हेडमास्टर किये गये निलंबित…

वाराणसी ब्यूरो,

मिर्जापुर: वाराणसी के पड़ोसी जिले के जमालपुर पुलिस थाना क्षेत्र के टेटरिया खुर्द गांव से चौका देने वाली घटना प्रकाश में आई है।

ग्राम प्रधान रामकेश यादव उर्फ लोरिक यादव नें रक्षा बंधन के दिन स्कूल प्रांगड़ में बिना इजाज़त एक जन्मदिन पार्टी का आयोजन किया, जिसमें कथित तौर पर बाहर से बुलाई गईं डांस गर्लस् नें भोजपुरी गानों पर अश्लील डांस किया। स्कूल में जन्मदिन पार्टी की मेजबानी कर रहे ग्राम प्रधान नें खुलेआम मेहमानों को शराब की बोतलें ऑफर की, जिसका मेहमानों नें सेवन किया और बार बालाओं के डांस के दौरान प्रधान और उसके मेहमानों नें उन पर नोटों की बारिश की।

पुलिस ने एक सरकारी स्कूल में अश्लील नृत्य पार्टी के आयोजन के लिए यूपी के मिर्जापुर जिले के टेटरिया खुर्द गांव के ग्राम प्रधान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली है, इसके अलावा प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों के प्रमुख मास्टरों को भी निलंबित कर दिया गया। आगे की जांच के लिए शिक्षा विभाग की एक तीन सदस्यीय समिति का गठन किया गया है।

स्कूल के हेडमास्टर के बयान के आधार पर, शुक्रवार को जमालपुर पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। एसओ जमालपुर संतोष सिंह ने फोन पर जनमंच को बताया कि ग्राम प्रधान पर धारा 353 (सरकारी कर्मचारी के कार्य में आक्रमण या आपराधिक बल का प्रयोग करके बाधा डालना), 186 (सार्वजनिक कर्मचारियों को सार्वजनिक कार्य निर्वहन से रोकना), 427 (सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचाना), 3/5 (सरकारी संपत्ति के नुकसान से रोकथाम) के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। सूत्रों के मुताबिक, ग्राम प्रधान एक दबंग प्रवत्ति का व्यक्ति है और इस क्षेत्र में उसके खिलाफ बोलने से लोग डरते हैं। यह भी जानकारी मिली है कि ग्राम प्रधान पहले भी स्कूल प्रांगड़ में अपनी मर्जी से समारोह इत्यादि कराता रहा है।

वीडियो में देखें…


इस घटना के बारे में उच्च अधिकारियों को सूचित नहीं करने के लिए प्राथमिक स्कूल के हेडमास्टर अशोक कुमार सिंह और ऊपरी प्राथमिक विद्यालय के प्रमुख गुरु बेचू राम को निलंबित कर दिया गया। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) प्रवीण तिवारी ने बताया, “उन्हें निलंबित कर दिया गया है, क्योंकि मामले की जांच चल रही है।” उन्होंने इस मामले की जांच के लिए ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों का एक तीन सदस्यीय समिति गठित किया है।

सोशल मीडिया पर स्कूल में हुए बार बालाओं के अश्लील डांस और शराब के नशे में धुत्त लोगों को डांसरों के उपर रुपए उड़ानें का वीडियो वायरल हो गया। वीडियो क्लिपिंग में साफ दिखाया गया है कि स्कूल में बनाये गये आस्थाई स्टेज पर डांस चल रहा है और नोटों को लड़कियों पर उड़ाया जा रहा है। बीएसए के अनुसार, स्कूल के हेडमास्टर को पार्टी के बारे में जानकारी नही थी।

रक्षाबंधन के कारण 7 अगस्त को स्कूल बंद था, जिस दौरान इस पार्टी को आयोजित किया गया। 5 अगस्त को कक्षाएं खत्म होने के बाद ग्राम प्रधान ने हेडमास्टर से स्कूल की चाबियाँ ले ली थी।

छुट्टी के बाद जब स्कूल खोला गया तो परिसर में चारों ओर गंदगी बिखरी हुयी थी जिसे स्वयं हेडमास्टर और बच्चों ने साफ किया। अपने बयान में, हेडमास्टर ने इस प्रकरण में उनकी भागीदारी से इनकार किया। इसे एक दुर्भाग्यपूर्ण, शर्मनाक घटना के रूप में बताते हुए, उन्होंने कहा कि उन्हें गांव के प्रधान द्वारा अंधेरे में रखा गया था। 8 अगस्त को स्कूल को फिर से खोलने के बाद ही घटना के बारे में उन्हें पता चला।

Info@janmanchnews.com

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।