बीएचयू कैंपस में छात्रों का तांडव, समाजवादी छात्रसभा के नेता की गिरफ्तारी पर भड़के छात्र

BHU
Janmanchnews.com
Share this news...
Shabab Khan
शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

वाराणसी: बीएचयू एक बार फिर से हिंसा की चपेट में आ गया है। उग्र छात्रों ने बुधवार को जमकर बवाल मचाया। सर सुंदर लाल चिकित्सालय से लेकर विश्वनाथ मंदिर तक खड़े सैकड़ों वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। विश्वनाथ मंदिर परिसर के बाहर एसबीआई के एटीएम पर पथराव कर शीशे तोड़ दिए। कैंपस में बच्चों को छोड़कर वापस जा रही डीपीएस की एक बस में आग लगा दी, ड्राईवर-कंडक्टर नें किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई।

समाजवादी छात्रसभा के बीएचयू ईकाई के नेता आशुतोष सिंह की गिरफ्तारी के बाद शाम 5:00 बजे छात्रों नें बीएचयू के मेनगेट सिंहद्वार को अंदर से बंद कर दिया, वहॉं लगे सीसीटीवी कैमरों को तोड़ दिया। इस संबंध में जब लंका एसओ से संपर्क करने की कोशिश की गई तो उनका मोबाइल लगातार व्यस्त बताता रहा।

अराजक तत्त्वों के डर से सभी दुकाने बंद हो गयी। बीएचयू में मरीजों के तीमारदारों की दर्ज़नो गाड़ियों को उग्र छात्रों ने क्षतिग्रस्त कर दिया।

उल्लेखनीय है कि पिछले करीब महीने भर से आशुतोष सिंह का मामला चर्चा में है। सबसे पहले आईआईटी बीएचयू में चल रहे डीजे नाईट के दौरान उन्होंने समर्थकों संग हंगामा किया। इतना ही नहीं बीएचयू की चीफ प्रॉक्टर प्रो रोयाना सिंह से छात्रनेता ने अभद्रता की, इसके बाद एक मामला आईआईटी बीएचयू के निदेशक के फेसबुक अकाउंट से छात्रों को गाली गलौज देने का मामला सामने आया जिसे लेकर काफी हंगामा हुआ था, बाद में निदेशक प्रो.राजीव संगल ने उसे फेक अकाउंट करार दिया साथ ही लंका थाने में मुकदमा दर्ज कराया।

यह मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि  सरसुंदर लाल चिकित्सालय के मेडिकल सुपरिटेंडेंट के साथ फोन पर गाली गलौज की गई, रात में उनके आवास पर पेट्रोल बम से हमला किया गया। इस मामले में चिकित्साघीक्षक डॉ ओपी उपाध्याय ने लंका थाने में मुकदमा दर्ज कराया। हालांकि फोन पर गाली गलौज और उसके बाद डॉ उपाध्याय के एसएमएस को लेकर छात्रों की ओर से भी लंका थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

बताया जा रहा है कि अब पुलिस ने बुधवार की सुबह आशुतोष को हिरासत में ले लिया और उन्हें थाने ले आई। इसकी सूचना मिलते ही आशुतोष के समर्थक उग्र हो गए और जम कर तोड़-फोड़, आगजनी की।

सूचना पर कई थानों की फोर्स बीएचयू गेट पर पहुंच गई। छात्रों ने गेट पर लगे सीसीटीवी कैमरे के तार काट दिए, और लंका चौराहे पर खड़े पुलिस बल पर पथराव कर दिया। समाचार लिखे जानें तक परिसर उग्र स्टुडेंट्स के कब्जे मे था।

(ताबिश अहमद के साथ शबाब ख़ान की रिपोर्ट)

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।