varanasi police

जनमंच असर: साऊथ अमेरिकन महिला के साथ दुष्कर्म का प्रयास व लूटपाट करने वाले तीनों अभियुक्त गिरफ़्तार

72

तेजतर्रार पुलिस ऑफिसर रामनगर एसएचओ विवेक कुमार श्रीवास्तव नें घटना के दो दिन के अंदर अभियुक्तों को पहुँचाया सलाखों के पीछे…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

वाराणसी: साऊथ अमेरिकन महिला के साथ छेड़छाड़ करने बाद उसे लूटकर काशी के मुँह पर तमाचा मारने वाले तीनों अभियुक्तों को आज दिन में तकरीबन 12:30 बजे रामनगर थाना क्षेत्र से गिरफ़्तार कर लिया गया।

अर्जेंटीना की महिला पिछले 12 वर्षों से  बनारस के भेलूपुर थानान्तर्गत आने वाले भदैनी क्षेत्र में रह कर एक एनजीओ चलाती है व गरीब लोगों को स्वारोजगाार से जोड़कर समाज सेवा जैसा नेक काम कर रही है। जानकारी के मुताबिक महिला बनारस आकर साध्वी बन गई व पूर्ण ब्रह्मचर्य का पालन करती है। वह नियम से हर रोज सांय चार से छह बजे तक गंगापार रेती पर साधना व ध्यान लगाती है।

बीते 16 दिसम्बर को भी विदेशी महिला शाम चार बजे अस्सी घाट के सामने गंगापार रेती पर नाव से पहुँची, घाट पर काम करने वाले ज्यादातर नाविक महिला की इस दिनचर्या से वाकिफ़ है, वे चार बजे उसे गंगापार छोड़कर वापस आ जाते हैं फिर छह बजे से कुछ पहले जाकर महिला को वापस लाते है। उस दिन भी नाव वाले नें उसे उस पार उतार दिया और वापस आ गया।

असर से पहले प्रकाशित खबर जरुर पढ़ें…

अर्जेंटीना की महिला से बनारस में हुअा दुष्कर्म का प्रयास, लूटपाट की भी शिकार बनी महिला

महिला नें नियमानुसार वहॉं साधना की व ध्यान लगाया, शाम छह बजे के आसपास वो जब वापस लौटने की तैयारी कर रही थी तभी वहॉं रमेश यादव (24) पुत्र रामाश्रय यादव निवासी कटेसर, थाना मुगलसराय, चंदौली; पिंकल यादव(22) पुत्र रामप्रसाद यादव, कटेसर, थाना मुगलसराय, चंदौली और वीरन यादव (25) पुत्र छेदी यादव, कटेसर, थाना मुगलसराय, चंदौली महिला के पास पहुँचे और गलत नियत से महिला को पकड़ लिया और उसके साथ दुराचार की कोशिश करने लगे।

ध्यान रहे कि गंगापार रेती वाला क्षेत्र शाम होते ही सुनसान हो जाता है और आजकल जाड़े के मौसम में छह बजे अंधेरा हो जाता है। तीनों युवकों नें इसका फायदा उठानें की कोशिश की, वो महिला के साथ जबरदस्ती करने लगे, बचाव में महिला के चेहरे और गर्दन पर खरोचे भी आयीं।

अपने आपको घिरा देख महिला नें तीनों युवकों से खुद के साध्वी बन जाने और ब्रह्मचर्य के पालन करने की बात बताई, वो तीनों के सामने गिड़गिड़ायी और अपने पास मौजूद नगदी उन्हे देने की बात कही। जिसके बाद तीनों युवकों नें महिला से दुष्कर्म तो नही किया लेकिन महिला के साथ लूटपाट की, नगदी के अलावा और भी सामान लूटकर तीनो वहॉं से भाग गये।

इस घटना के बाद महिला नें एनजीओ के अपने भारतीय दोस्तों से संपर्क किया, उन दोस्तों नें तुरन्त पुलिस को घटना की जानकारी दी, जिसके बाद वो पुलिस को लेकर गंगापार पर गये और महिला को लेकर आये।

पुलिस के अनुसार महिला नें घटना वाले दिन बयान नही दिया था और न ही कोई लिखित शिकायत ही दर्ज कराई थी। अगले दिन एसपी सिटी नें महिला से स्टेटमेंट लिया और उसके द्वारा दी गई जानकारी के तहत थाना रामनगर के एसओ विवेक कुमार श्रीवास्तव को अभियुक्तों की गिरफ़्तारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। ज्ञात हो कि गंगापार रेती वाला क्षेत्र रामनगर थाना क्षेत्र मे आता है।

विवेक श्रीवास्तव नें अपने थानान्तर्गत हुई घटना को चुनौती के रुप मे स्वीकार किया और रेती क्षेत्र पर अपने मुखबिरों का जाल बिझा दिया। आज दिन में उन्हे मुखबिर नें सूचना दी कि तीन युवक दशाश्वामेध घाट के सामने इस पार रेती पर मौजूद हैं, जो महिलाओं से लूटपाट करते है। रामनगर थाना पुलिस नें उन्हे हिरासत मे ले लिया और थानें ले अाये।

पूछताछ में महिला के साथ हुई घटना में उनके शामिल होने की बात को पहले वो नकारते रहे लेकिन थानाध्यक्ष नें उन तीनो की फोटो खींचकर पीड़िता को भेजा, महिला नें शिनाख्त कर लिया कि यह तीनो वही हैं जो उसके साथ हुई घटना में शामिल थे। शिनाख्ती के बाद तीनो अभियुक्तों नें भी अपना अपराध स्वीकार कर लिया। जामा तालाशी में उनके पास से 2000₹ पॉच सौ की चार नोटों में बरामद हुये जो महिला से लूटे गये थे।

रामनगर पुलिस नें तीनों के विरुद्ध मुकदमा (संख्या 447/17) आईपीसी की धारा 394 (लूटपाट, छिनैती) व 411 (लूटपाट का माल बरामदगी) दर्ज कर लिया, कल उन्हे कोर्ट में पेश करके जेल भेजने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। यह पूछे जाने पर कि अभियुक्तों के विरुद्ध धारा 354 (महिला के साथ छेड़छाड़) का मामला क्यो दर्ज नही किया गया तो रामनगर एसएचओ नें बताया कि विदेशी महिला नें किसी कारणवंश अपनी लिखित शिकायत में अपने साथ हुए दुष्कर्म के प्रयास से संबंधित बात का जिक्र नही किया था इसलिए कानूनन वो अभियुक्तों पर 354 के तहत कार्यवाही नही कर सकते।

बहरहाल, जो भी हो बनारस की संस्कृति को विदेशी महिला के साथ घिनौनी हरकत करके पूरे समाज को शर्मसार करने वाले तीनों अभियुक्तों को दो दिन के अंदर गिरफ़्तार करके रामनगर एसएचओ विवेक कुमार श्रीवास्तव नें सराहनीय काम किया है। गिरफ़्तार करने वाली टीम में रामनगर एसएचओ के साथ कॉस्टेबल मुकेश कुमार सिंह व विरेद्र कुमार शामिल थे।

(ताबिश अहमद के साथ शबाब ख़ान की रिपोर्ट)