बनारस में प्रचंड गर्मी, अप्रैल में ही पारा पहुँचा 43 पार

गर्मी
Extreme Heat in Varanasi, temperature reached 43° Celsius in mid April...
Share this news...

डाक्टरों की सलाह, सावधान रहें धूप से…

Shabab Khan
शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के कई जिले इस वक्त भीषण गर्मी की चपेट में है हर रोज तेजी से ऊपर भाग रहा पारा इंसानों जानवरों के लिए मुसीबत का सबब बन रहा है। वही धर्म की नगरी काशी में गर्मी का सबसे ज्यादा असर देखने को मिल रहा है। इसकी बड़ी वजह है, लगातार तीन दिनों से पारे का 42 से 43 डिग्री सेल्सियस पर बने रहना।जहां बच्चे गंगा में अठखेलियां कर गर्मी मिटा रहे हैं तो सड़कों पर निकलने वाले लोग-बाग आम का पन्‍ना और बेल का शर्बत पीकर सूर्यदेव से पनाह मांग रहे हैं।

दोपहर में गंगा स्‍नान ना करें
वहीं वाराणसी के वरिष्‍ठ चिकित्‍सक और लक्ष्‍मी मेडिकल एंड सर्जिकल के एमडी डॉ अशोक राय ने चेतावनी दी है कि इस भीषण गर्मी में अगर आपको आदत नहीं है तो दिन के वक्‍त गंगा या पोखरों में स्‍नान करने से बचें। उन्‍होंने धार्मिक आधार पर भी इसे लाभकारी बताया कि गंगा का स्‍नान सूर्योदय से पहले या सूर्यास्‍त के बाद ही करें। डॉक्‍टर के अनुसार भीषण गर्मी में हीट स्‍ट्रोक का खतरा बढ़ गया है। कभी कभी ये जानलेवा भी हो सकता है।

धूप
College Girls in Varanasi covered themselves fully in a bid to get little safety from direct sun…

खाली पेट ना निकलें
डॉ अशोक राय ने खासकर बच्‍चों को ये सलाह दी है कि धूप में पानी से ना खेलें। ज्‍यादा से ज्‍यादा वक्‍त घर के भीतर ही रहें। डॉक्‍टर के अनुसार किसी भी उम्र की महिला या पुरुष, जबतक जरूरी काम ना हो घर से ना निकलें। यदि निकलना आवश्‍यक हुआ तो भी खाली पेट भूलकर भी घर से बाहर न निकलें। छाछ, पानी और तरल पदार्थ ज्‍यादा से ज्‍यादा लें। भोजन में सलाद की मात्रा बढ़ा लें। एयरकंडीशन में हों तो घर या ऑफिस से बाहर निकलने से कुछ देर पहले ही उन्‍हें ऑप कर दें। बॉडी को नॉर्मल टम्‍प्रेचर पर लाने के बाद ही धूप का सामना करें, अन्‍यथा हीट स्‍ट्रोक लगने का पूरा-पूरा खतरा है।

सैलानी परेशान
बनारस को उसकी गलियों और घाटों के लिए जाना जाता है। यहां आने वाला हर सैलानी इन जगहों पर जाना पसंद करता हैं, लेकिन इन दिनों आसमान से बरस रही आग को महसूस करके देसी-विदेश पर्यटक हांफते फिर रहे हैं। दिन के समय वाराणसी की ज्‍यादातर सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ हुआ। घाट कि किनारे रहने वाले बच्चे गंगा की गोद में गर्मी भगा रहे हैं वहीं सड़कों पर निकलने वाले लोग खुद को पूरी तरह से ढंक कर चल रहे हैं और आम के पन्ने और बेल के शरबत का सहारा ले रहे हैं।

Share this news...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फॉलो करें।